• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • डिस्चार्ज मिलने के बाद भी अस्पताल छोड़ने को तैयार नहीं ये महिला, प्रबंधन के लिए मुसीबत का सबब

डिस्चार्ज मिलने के बाद भी अस्पताल छोड़ने को तैयार नहीं ये महिला, प्रबंधन के लिए मुसीबत का सबब

डिस्चार्ज होने के बाद भी अस्पताल में रह रही महिला

डिस्चार्ज होने के बाद भी अस्पताल में रह रही महिला

लोगों का कहना है कि अस्पताल प्रबंधन इन महिलाओं के लिए उपायुक्त से बात कर सकता है. जिससे उनको शेल्टर होम, नारी निकेतन या किसी अन्य संस्था में रहने की व्यवस्था की जा सके.

  • Share this:
झारखंड के देवघर में दो महिलाओं ने पिछले छह माह सदर अस्पताल को ही अपना घर बना लिया है. अस्पताल में आते-जाते लोगों की उनपर नजर पड़ती है, लेकिन इनकी मदद के लिए आज तक ना कोई सामाजिक कार्यकर्ता समाने आए ना ही कोई स्वंयसेवी संस्था. वहीं अस्पताल प्रबंधन को इस बात की भी जानकारी नहीं है कि इसके परिजन हैं भी या नहीं. बताया जा रहा है कि पुलिस के द्वारा दोनों बेसहारा महिलाओं को अस्पताल में भर्ती कराया था. आसरा नहीं होने की वजह से ठीक होने के बाद भी दोनों महिलाएं वहीं रह रही हैं.

अस्पताल प्रबंधन समझने लगा है बोझ

दोनों महिलाओं को भर्ती कराने के बाद पुलिसवाले इनकी खोज खबर लेने नहीं आए. वहीं अस्पताल प्रबंधन के लिए बोझ बन गए हैं. अस्पताल अधीक्षक का कहना है कि इतने लंबे समय से इनके बिस्तर पर रहने से दूसरे मरीजों को भी परेशानी का होती है. उन्होंने ये भी बताया कि पुलिस बेसहारा लोगों को अस्पताल छोड़ जाती है और उसके बाद वो कोई खोज-खबर नहीं लेते. ऐसे में इन बेसहारा लोगों की पूरी जिम्मेदारी हमलोगों पर आ जाती है. ऐसे में ऐसे लोगों की साफ-सफाई से लेकर नहाने, खाने और दवा की पूरी जिम्मेदारी हम पर बढ़ जाती है.

डीसी को अस्पताल प्रबंधन दे सकता है जानकारी

ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि अगर दोनों अनाथ है तो मानवता के नाते इनकी देखभाल होनी चाहिए. वहीं जिला प्रशासन या अस्पताल प्रबंधन के द्वारा अभी तक इन महिलाओं के लिए कोई समुचित व्यवस्था नहीं की गई है. वहीं इस मामले में लोगों का कहना है कि अस्पताल प्रबंधन इन महिलाओं के लिए उपायुक्त से बात कर सकता है. जिससे उनको शेल्टर होम, नारी निकेतन या किसी अन्य संस्था में रहने की व्यवस्था की जा सके.

ये भी पढ़ें - जिला परिषद अध्यक्ष और सचिव में ठनी, हंगामेदार हो सकती है आगामी बैठक

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन