लाइव टीवी

यहां पीएम की महत्‍वाकांक्षी योजना को अधिकारी दिखा रहे ठेंगा

Rituraj Sinha | News18 Jharkhand
Updated: December 19, 2018, 4:45 PM IST
यहां पीएम की महत्‍वाकांक्षी योजना को अधिकारी दिखा रहे ठेंगा
कच्चे घर में रहने को मजबूर ग्रामीण

देवघर प्रखंड के नवाडीह गांव के पुजहर टोला के लगभग 80 परिवारों की बस्ती में कुछ लोगों को पीएम आवास योजना का लाभ जरूर मिला है, लेकिन अधिकांश परिवार आज भी अपने लिए आवास की गुहार अधिकारियों से लगा रहे हैं.

  • Share this:
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत समाज के अंतिम व्यक्ति को पक्का घर मिले हैं, लेकिन झारखंड के देवघर में लगभग दो दर्जन परिवार पिछले कई माह से अधिकारियों से आवास की गुहार लगा-लगाकर थक चुके हैं. इसके बावजूद आज तक उनका आवास स्वीकृत नहीं हुआ है.

देवघर प्रखंड के नवाडीह गांव के पुजहर टोला के लगभग 80 परिवारों की बस्ती में कुछ लोगों को पीएम आवास योजना का लाभ जरूर मिला है, लेकिन अधिकांश परिवार आज भी अपने लिए आवास की गुहार अधिकारियों से लगा रहे हैं. दिलचस्प बात यह है कि लाभुकों की सूची में इनमें से कुछ लोगों का नाम अवश्य शामिल कर लिया गया है, लेकिन इनके लिए आवास का सपना आज भी सपना है.

ग्रामीणों का कहना है कि कई महीनों से वे आवास के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन कभी उनकी सुनवाई नहीं हुई. उन्होंने कहा कि गांव के कुछ लोगों को तो पीएम आवास योजना का लाभ मिल चुका है और कुछ को नहीं मिल रहा है. ग्रामीणों का आरोप है कि योजना में आवास स्वीकृत करने की एवज में अधिकारी रिश्वत लेते हैं, जिससे लोगों को उनके पक्के घर नहीं मिल पाते.

साल 2022 तक 'हाउसिंग फॉर ऑल' के संकल्प के साथ पीएम आवास योजना की शुरूआत की गई थी, लेकिन अधिकारियों की उदासीनता के कारण सरकार की यह महत्वाकांक्षी योजना अपने उद्देश्य से भटकती नजर आने लगी है.

यह भी पढ़ें-  पलामू: पीएम आवास योजाना के तहत पक्का घर पाकर खुश हुए ग्रामीण

यह भी पढ़ें-  पीएम आवास योजना के लिए लोगों को उजड़ने नहीं दिया जाएगा- सरयू राय

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देवघर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 19, 2018, 4:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर