Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Corona Effect: देवघर में लगने वाले विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का इस बार नहीं होगा आयोजन

    देवघर में लगने वाले विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का इस बार आयोजन नहीं होगा
    देवघर में लगने वाले विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का इस बार आयोजन नहीं होगा

    देवघर उपायुक्त नैन्सी सहाय ने कहा कि भारत सरकार की गाइडलाइन और झारखंड सरकार के लॉकडाउन (Lockdown) बढ़ाने के फैसले को देखते हुए विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले (Shravani Mela) का आयोजन नहीं करने का निर्णय लिया गया है.

    • Share this:
    देवघर. झारखंड के देवघर (Deoghar) में इस बार हर साल लगने वाला श्रावणी मेला (Shravani Mela) नहीं लगेगा. जिले की उपायुक्त सह मंदिर प्रशासक नैन्सी सहाय ने इसकी जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि भारत सरकार की गाइडलाइन के तहत किसी भी बड़े धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं दी गई है. झारखंड सरकार द्वारा भी अब लॉकडाउन (Lockdown) की अवधि को 31 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है. इस दौरान सभी धार्मिकस्थलों को बंद रखने का फैसला लिया गया है. ऐसे में विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का आयोजन नहीं किया जा सकता है.

    श्रद्धालुओं से कांवर यात्रा पर नहीं आने का आग्रह

    उपायुक्त ने कहा कि श्रद्धालुओं से इस बार कांवर यात्रा पर देवघर नहीं आने का आग्रह किया जा रहा है. इसके लिए प्रशासन द्वारा व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है. हालांकि मेले का आयोजन नहीं होने से स्थानीय लोगों को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा. लेकिन कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए यह कदम उठाना आवश्यक है.



    बतौर उपायुक्त मनाही के बावजूद अगर कोई श्रद्धालु बाबा वैद्यनाथ मंदिर पहुंचने की कोशिश करता है, तो उन्हें रोकने के लिए तीन स्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था की गई है.
    हाईकोर्ट में हुई थी सुनवाई 

    इससे पहले शुक्रवार को झारखंड हाईकोर्ट ने श्रावण मास में देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथ धाम एवं दुमका स्थित बासुकीनाथ मंदिर को भक्तों के लिए खोले जाने से संबंधित जनहित याचिका पर सुनवाई की. इस दौरान हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पक्ष रखने को कहा. भाजपा सांसद निशिकांत दुबे की जनहित याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई हुई थी. हाईकोर्ट ने सरकार को यह बताने के लिए कहा था कि वर्तमान स्थिति में कांवर यात्रा शुरू की जा सकती है या नहीं.

    हर साल एक महीने तक लगता था मेला 

    बता दें कि हर साल सावन महीने में देवघर में श्रावणी मेला के आयोजन होता रहा है. इस दौरान देश-विदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु कांवर लेकर देवघर पहुंचते हैं. और बाबा बैद्यनाथ मंदिर में जलार्पण करते हैं. यहां से फिर श्रद्धालु दुमका जाकर बासुकीनाथ मंदिर में पूजा-पाठ करते हैं. ये परंपरा सालों से चली आ रही है. लेकिन कोरोना के चलते इस बार देवघर में श्रावणी मेले का आयोजन नहीं होगा. यह मेला एक महीने तक चलता था.

     
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज