वाहन चेकिंग के दौरान कार से 29 कछुए बरामद, दो तस्कर गिरफ्तार
Dhanbad News in Hindi

वाहन चेकिंग के दौरान कार से 29 कछुए बरामद, दो तस्कर गिरफ्तार
समुद्री कछुओं को मारकर उसके मांस व तेल का इस्तेमाल शक्तिवर्द्धक दवा तैयार करने में किया जाता है.

धनबाद डीएफओ विमल लकड़ा ने कहा कि पश्चिम बंगाल के रास्ते कछुओं (Turtles) को चीन (China) और बांग्लादेश (Bangladesh) और अन्य एशियाई देशों में भेजा जाता है.

  • Share this:
धनबाद. पुलिस ने वाहन जांच के दौरान बरवाअड्डा जीटी रोड पर एक स्विफ्ट कार से 29 कछुए (Turtles) बरामद किए. साथ ही दो तस्करों (Smugglers) को भी गिरफ्तार किया. चुनावी ड्यूटी में लगे पुलिस टीम ने वाहन जांच के दौरान पाया कि स्विफ्ट कार की डिक्की में रखे बोरे में हलचल हो रही है. जिसके बाद बोरा खुलवाया गया, तो उसमें दो से तीन सौ वर्ष के कछुए पाये गये. पुलिस की सूचना पर वन विभाग (Forest Department) की टीम ने गाड़ी सहित सभी कछुए को जब्त कर लिया. 29 में से 14 कछुओं की मौत हो गई.

बताया गया कि लुप्तप्राय प्रजाति के इन कछुओं को तस्कर यूपी से पश्चिम बंगाल ले जा रहे थे. लेकिन धनबाद में पुलिस के हत्थे चढ़ गए. दरअसल समुद्री कछुओं को मारकर उसके मांस व तेल का इस्तेमाल शक्तिवर्द्धक दवा तैयार करने में किया जाता है. बाजार में इसकी मांग को देखते हुए इन दिनों धड़ल्ले से कुछओं की तस्करी जारी है.

धनबाद डीएफओ विमल लकड़ा ने कहा कि पश्चिम बंगाल के रास्ते कछुओं को चीन और बांग्लादेश और अन्य एशियाई देशों में भेजा जाता है. पहले भी धनबाद में कछुओं की बरामदगी हुई है. कछुओं की तस्करी का जाल यूपी से लेकर ओडिशा और कोलकाता तक फैला हुआ है. इसके एवज में तस्करों को प्रति खेप लाखों रुपए मिलते हैं.



(रिपोर्ट- अभिषेक कुमार)
ये भी पढ़ें- बीजेपी प्रत्याशी की प्रचार गाड़ी से 29 लाख 98 हजार रुपए बरामद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading