Home /News /jharkhand /

Anjum Ara Murder Case: बंगाल में छुपे थे धनबाद के मुलजिम, एसआईटी ने कर लिया गिरफ्तार

Anjum Ara Murder Case: बंगाल में छुपे थे धनबाद के मुलजिम, एसआईटी ने कर लिया गिरफ्तार

गिरफ्तार आरोपियों का कोरोना टेस्ट कराया गया, उस वक्त अंजुम आरा के परिजन भी वहां मौजूद रहे.

गिरफ्तार आरोपियों का कोरोना टेस्ट कराया गया, उस वक्त अंजुम आरा के परिजन भी वहां मौजूद रहे.

Joint Operation of Dhanbad and Bengal Police : पुलिस में दर्ज कराई गई रिपोर्ट में पति, सास, ससुर, ननद और देवर के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित किए जाने और हत्या का आरोप लगाया गया था. दर्ज रिपोर्ट में अंजुम के घरवालों ने यह भी बताया है कि दूसरों से शारीरिक संबंध बनाने के लिए अंजुम को जबरन नशीली दवा खिलाई जाती थी. उसके साथ इतनी मारपीट की जाती थी कि वह बेहोश हो जाती थी.

अधिक पढ़ें ...

धनबाद. अंजुम आरा हत्याकांड के 15 दिन बाद इस केस के सभी मुलजिम पकड़ लिए गए. पकड़े गए सभी मुलजिमों की सदर अस्पताल में कोरोना जांच कराई गई और उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें के बाद जेल भेज दिया गया. बता दें कि गोविंदपुर थाना क्षेत्र की रहनेवाली अंजुम आरा का निकाह 2020 में मुनीडीह थाना क्षेत्र में हुआ था. 29 दिसंबर को ससुराल में अंजुम की मौत हो गई थी.

पुलिस में दर्ज कराई गई रिपोर्ट में पति, सास, ससुर, ननद और देवर के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित किए जाने और हत्या का आरोप लगाया गया था. दर्ज रिपोर्ट में अंजुम के घरवालों ने यह भी बताया है कि दूसरों से शारीरिक संबंध बनाने के लिए अंजुम को जबरन नशीली दवा खिलाई जाती थी. उसके साथ इतनी मारपीट की जाती थी कि वह बेहोश हो जाती थी.

29 दिसंबर को अंजुम की मौत के बाद परिजनों ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए जिले के ग्रामीण एसपी कार्यालय के सामने शव रखकर प्रदर्शन भी किया गया था. जिले के वरीय पुलिस पदाधिकारियों के आदेश पर एसआईटी का गठन कर आरोपियों की धरपकड़ के लिए छापेमारी की जा रही थी. पुलिस की दबिश से परेशान सभी आरोपी बंगाल भाग गए थे. लेकिन झारखंड और बंगाल पुलिस ने साझा अभियान चलाकर सभी आरोपियों को धर दबोचा.

पुलिस के मुताबिक, अंजुम आरा के पति रियाजुद्दीन अंसारी सहित बाकी आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. अंजुम की मां ने कहा कि कानून पर उन्हें पूरा भरोसा है, पर जब तक सभी आरोपियों को फांसी की सजा नहीं मिल जाती, उनकी बेटी की आत्मा को शांति नहीं मिलेगी. वहीं इस मामले में पीड़ित परिवार के साथ कदम-कदम पर खड़ी फातिमा जीनत ने कहा कि अंजुम आरा के जीवित रहते हुए ही उसकी फरियाद कई महीने पहले स्थानीय पुलिस तक पहुंचाई गई थी, लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया. देर ही सही, सभी आरोपी पकड़े गए हैं. प्रशासन से मांग करती हूं कि सभी दोषियों को फांसी की सजा दी जाए, जिससे फिर किसी गरीब की बेटी को कोई इस तरह प्रताड़ित कर मारने की हिम्मत न करे.

Tags: Crime News, Dhanbad news, Murder

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर