धनबाद के होनहार छात्र अनुराग विजय यूके स्कॉलरशिप के लिए चयनित

हमारे देश के प्रतिभावान छात्र-छात्रा अपने मेहनत के बल पर देश ही नहीं दुनिया में समय-समय पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते रहे हैं.अब इसी क्रम में धनबाद के साधारण मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाले अनुराग विजय को इंग्लैंड के लंदन स्थित क्वीन्स मैरी यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल डिसप्यूट रिजोल्यूशन विषय पर एलएलएम करने का ऑफर मिला है.

Abhishek Kumar | News18 Jharkhand
Updated: September 8, 2018, 5:25 PM IST
धनबाद के होनहार छात्र अनुराग विजय यूके स्कॉलरशिप के लिए चयनित
इंगलैंड की स्कॉलरशिप ऑफर का पत्र दिखाते होनहार छात्र अनुराग विजय
Abhishek Kumar
Abhishek Kumar | News18 Jharkhand
Updated: September 8, 2018, 5:25 PM IST
हमारे देश के प्रतिभावान छात्र-छात्रा अपने मेहनत के बल पर देश ही नहीं दुनिया में समय-समय पर अपनी  प्रतिभा का लोहा मनवाते रहे हैं.अब इसी क्रम में धनबाद के साधारण मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाले अनुराग विजय को इंग्लैंड के लंदन स्थित क्वीन्स मैरी यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल डिसप्यूट रिजोल्यूशन विषय पर एलएलएम करने का ऑफर मिला है.विश्व के सैकड़ों विद्यार्थियों के बीच हुए ऑन लाईन प्रतियोगिता परीक्षा में पास करने के साथ ही शत प्रतिशत स्कॉलरशिप के लिए अनुराग का चयन हुआ है.पढ़ाई पर आने वाले 25 हजार पाउंड्स यानि करीब 45 लाख रुपये का खर्च ब्रिटेन सरकार वहन करेगी तो रहने और खाने पीने का का खर्चा भी यूके सरकार ही उठाएगी.

अनुराग की बहन निधि सिंह को भी 2015 में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से कानून और वित की एमएससी की पढ़ाई के लिए शत प्रतिशत स्कॉलरशिप मिली  थी और उन्होंने गोल्ड मेडल भी हासिल किया था. बड़ी बहन को अपना आदर्श मानते हुए अनुराग ने भी यह बड़ी उपलब्धि हासिल की है.अनुराग ने न्यूज़18 को बताया कि वो लंदन से पढ़ाई पूरी कर अपने देश मे ही सेवा देना चाहेंगे. उनकी बहन निधि लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में बतौर मेंटर शिक्षक ट्रेनी आईएएस को कानून व वित विषय पढ़ाती हैं.धनबाद के हाउसिंग कॉलोनी के रहने वाले राम नरेश सिंह अपने पुत्र और पुत्री कि कामयाबी से बहुत खुश हैं वहीं अनुराग कि माता मनोरमा सिंह भी चाहती हैं कि उनका बेटा भले ही इंग्लैंड में शिक्षा पाए लेकिनभारत माता कि सेवा ही करे. होनहार छात्र अनुराग विजय की कामयाबी पर जहां कोयलांचल धनबाद आज गर्व महसूस कर रहा है.

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर