लाइव टीवी

'भूदा बाल सुधार गृह की स्थिति खराब, परिजनों से होती है जबरन वसूली'

News18 Jharkhand
Updated: August 2, 2018, 1:17 PM IST
'भूदा बाल सुधार गृह की स्थिति खराब, परिजनों से होती है जबरन वसूली'
आरती कुजूर,अध्यक्ष ,झारखंड बाल संरक्षण आयोग

आरती कुजूर ने कहा कि बिहार के मुजफ्फरपुर की घटना से सबक लेते हुए झारखंड सरकार वैसे सभी सरकारी- गैरसरकारी शेल्टर होम्स और गर्ल्स हॉस्टल की जांच करा रही है, जहां किशोर बच्चियां रहती हैं.

  • Share this:
धनबाद के भूदा में स्थित बाल सुधार गृह की स्थिति बहुत खराब है. यहां बच्चों से मुलाकात करने देने के लिए परिजनों से होमगार्ड्स के जवान जबरन वसूली करते हैं. ये खुलासा झारखंड बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष आरती कुजूर ने किया. उन्होंने बुधवार को बाल सुधार गृह का जायजा लिया.

भूदा बाल सुधार गृह में कुल 57 बच्चे रहते हैं. इनकी देख-रेख के लिए एक प्रभारी केयर टेकर, तीन रसोइया और सात होम गार्ड के जवान तैनात हैं. आरती कुजूर ने कहा कि बिहार के मुजफ्फरपुर की घटना से सबक लेते हुए झारखंड सरकार वैसे सभी सरकारी- गैरसरकारी शेल्टर होम्स और गर्ल्स हॉस्टल की जांच करा रही है, जहां किशोर बच्चियां रहती हैं.

आरती कुजूर ने कहा कि बच्चा बेचने के मामले को लेकर सीएम रघुवर दास गंभीर हैं.  आयोग की चार टीमें पूरे राज्य में मिशनरीज ऑफ चैरिटी होम्स की जांच कर रही हैं. धनबाद में मिशनरीज ऑफ चैरिटी अनाथालय की जांच की जाएगी.

कुजूर के अनुसार बालमित्र थाने में तैनात पुलिस अधिकारियों को तबादले के बाद भी उसी जिम्मेवारी को निभाना पड़े, इसके लिए डीजीपी से सीडब्लूपीओ कैडर बनाने का अनुरोध किया गया है.

(अभिषेक कुमार की रिपोर्ट)

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धनबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 2, 2018, 1:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर