Home /News /jharkhand /

ऑटो ड्राइवर ने लगाई फांसी, लिखा- बेटा कहता था घर नहीं बनाया, पैसे नहीं रखे तो फिर क्‍या किया?

ऑटो ड्राइवर ने लगाई फांसी, लिखा- बेटा कहता था घर नहीं बनाया, पैसे नहीं रखे तो फिर क्‍या किया?

Suicide News: बेटे की मांग से तंग आकर ऑटो ड्राइवर पिता ने आत्‍महत्‍या कर ली. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Suicide News: बेटे की मांग से तंग आकर ऑटो ड्राइवर पिता ने आत्‍महत्‍या कर ली. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Dhanbad News: ऑटो ड्राइवर ने सुसाइड नोट में कथित तौर पर लिखा कि उनका बड़ा बेटा फोर व्‍हीलर और 20 लाख रुपये मांगता था. इस बात को लेकर हमेशा झगड़ा भी करता रहता था. धनबाद पुलिस मामले की जांच कर रही है. जांच के बाद ही यह तय होगा कि सुसाइड करने वाले रामप्रवेश के बड़े बेटे के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए या नहीं.

अधिक पढ़ें ...

    धनबाद. झारखंड के धनबाद जिले से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. जिले के रंगाटांड़ रेल कॉलोनी में बेटे की मांग से तंग आकर ऑटो ड्राइवर पिता फांसी के फंदे पर झूल गया. मृतक की पहचान रामप्रवेश राउत के तौर पर की गई है. घटनास्‍थल से कथित तौर पर एक सुसाइड नोट भी बरामद किया गया है, जिसमें रामप्रवेश ने अपने बड़े बेटे पर गंभीर आरोप लगाए हैं. रामप्रवेश ने सुसाइड नोट में बड़े बेटे पर पैसों की मांग को लेकर झगड़ा करने का आरोप लगाया है. रामप्रवेश ने लिखा है कि उनका बड़ा बेटा हमेशा उनसे लाखों रुपये की मांग करता रहता था. उनका बेटा कहता था कि न तो घर बनाया, न ही पैसा रखा तो क्‍या किया?

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रामप्रवेश का शव जिस घर से बरामद किया गया है, पहले उनका परिवार उसी मकान में रहता था. कुछ दिनों पहले उनका परिवार धैया चला गया था. बताया जाता है कि पिछले दो दिनों से रामप्रवेश रंगाटांड़ स्थित अपने घर में बंद थे. पड़ोसियों ने इसकी सूचना उनके परिजनों को दी. इसके बाद रामप्रवेश का छोटा बेटा राहुल रंगाटांड़ पहुंचकर घर का दरवाजा खोला तो वह सन्‍न रह गए. उन्‍होंने देखा कि उनके पिता फांसी के फंदे पर झूल रहे हैं. स्‍थानीय लोगों ने इसकी सूचना तत्‍काल पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमॉर्टम के लिए अस्‍पताल भिजवा दिया. वहीं, मौके पर से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया गया.

    अब तुपुदाना तक चलेंगी सिटी बसें, किराया सिर्फ 20 रुपये

    धनबाद पुलिस ने सुसाइड नोट को जब्त कर लिया है. जानकारी के अनुसार, इसमें लिखा है कि मैं रामप्रवेश राउत पूरे होश-हवास में लिख रहा हूं कि मेरा बड़ा पुत्र हमेशा फोर व्हीलर और 20-50 लाख रुपए की बात करता था. वह पैसों की ख्वाहिश रखता था. हमसे बोलता था कि घर नहीं बनाया, पैसा नहीं रखा, तो किया क्या? बेटा सात-आठ साल से कुछ नहीं कर रहा था. हमेशा झगड़ा करता था. रामप्रवेश ने आगे लिाा- हम ऑटो चला कर बहुत दिक्कत से बच्चों को पढ़ाए, लेकिन वह बोलता था कि डॉक्टर-इंजीनियर क्‍यों नहीं बनाए. पुलिस इस नोट की जांच कर रही है. जांच के बाद ही तय होगा कि मृतक के बड़े बेटे के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला बनता है या नहीं.

    Tags: Crime News, Dhanbad news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर