अपना शहर चुनें

States

Bird Flu: तड़पते कौए को लेकर डीसी आवास पहुंच गये वकील साहब, फिर क्या हुआ पढ़ें...

पशुपालन विभाग की ओर से तड़पते कौए का इलाज कराया जा रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)
पशुपालन विभाग की ओर से तड़पते कौए का इलाज कराया जा रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

Bird Flu Alert: वकील रामपुनीत चाैधरी ने बताया कि उनके पास जिला पशुपालन पदाधिकारी का फोन नंबर नहीं था. इसलिए वो तड़पते कौए को लेकर इलाज करवाने डीसी आवास पहुंच गये.

  • Share this:
धनबाद. झारखंड में भी कई जिलों से पंक्षियों के मरने की सूचना मिल रही है. हालांकि सरकारी की ओर से बर्ड फ्लू (Bird Flu) को लेकर पुष्टि नहीं की गई है. लेकिन जिलों को इस बाबत अलर्ट जरूर किया गया है. धनबाद (Dhanbad) में भी पंक्षियों के मरने की बात सामने आ रही है. केंद्रीय खनन व ईंधन अनुसंधान संस्थान (CIMFR) परिसर में कौए एवं अन्य चिड़ियां मृत पाये गये.

मॉर्निग वॉक पर निकले वकील को मिला तड़पता कौआ

रविवार सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले अधिवक्ता रामपुनीत चाैधरी ने सिंफर परिसर में एक कौआ काे मृत पाया और एक अन्य कौआ को तड़पता हुआ देखा. वकील साहब तड़पते कौए को लेकर सीधे डीसी उमाशंकर सिंह के आवास पर पहुंच गये. हालांकि डीसी आवास में मौजूद नहीं थे. वे जिम गए हुए थे. आवास के कर्मियाें ने फोन पर उपायुक्त को ये बात बताई, तो उन्होंने जिला पशुपालन पदाधिकारी काे वकील साहब के पास भेजने का भरोसा दिलाया. इसके बाद वकील साहब तड़पते काैए काे लेकर डीसी आवास से अपने घर आ गये.




वकील रामपुनीत चाैधरी ने बताया कि उनके पास जिला पशुपालन पदाधिकारी का फोन नंबर नहीं था. शहर में पशु अस्पताल कहां है, इसके बारे में भी उनके पास जानकारी नहीं थी. इसलिए वो तड़पते कौए को लेकर इलाज करवाने डीसी आवास पहुंच गये.

बाद में उपायुक्त की पहल पर जिला पशुपालन पदाधिकारी ने पशु अस्पताल के एक कंपाउंडर को वकील साहब के घर भेजा. कंपाउंडर इलाज के लिए कौए को अपने साथ ले गया.

वकील साहब के मुताबिक उन्होंने पिछले दो-तीन दिन में सिंफर परिसर में कई चिड़ियों काे मृत पाया. इसकी सूचना उन्होंने संस्थान के कर्मियाें काे दी. लेकिन काेई कार्रवाई नहीं हुई. ये जांच से ही पता चलेगा कि चिड़ियां बर्ड फ्लू या किसी अन्य वजह से मर रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज