लाइव टीवी

रंगदारी दो नहीं तो देनी होगी जान! गैंग्स ऑफ वासेपुर के नाम से कारोबारियों को मिल रही धमकी

News18 Jharkhand
Updated: January 22, 2020, 12:01 PM IST
रंगदारी दो नहीं तो देनी होगी जान! गैंग्स ऑफ वासेपुर के नाम से कारोबारियों को मिल रही धमकी
लगातार रंगदारी मांगे जाने की घटना से धनबाद के कारोबारियों में दहशत का माहौल है.

पिछले 15 दिनों से धनबाद में कारोबारियों को कॉल, मैसेज और चिट्ठी के जरिये रंगदारी मांगी जा रही है. रंगदारी न देने पर जान से मारने की धमकी तक दी जा रही है.

  • Share this:
धनबाद. कोयलांचल धनबाद में पिछले दो सप्ताह से व्यवसायी दहशत में जी रहे हैं. कारण है गैंग्स ऑफ वासेपुर (Gangs of Wasseypur) के नाम से उद्योगपतियों और व्यवसायियों से रंगदारी मांगने की घटनाएं. जमशेदपुर जेल में बंद गैंगस्टर फहीम खान के नाम पर अलग-अलग अंदाज में रंगदारी मांगी जा रही है. अब तक पांच व्यवसासियों से रंगदारी मांगे जाने की शिकायत पुलिस को मिली है. सूत्रों के अनुसार, 50 से अधिक व्यवसायियों को ऐसे कॉल और मैसेज आ चुके हैं, जिनमें रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी गई है, लेकिन कइयों ने डर से पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज नहीं कराई है.

व्यवसायियों के मुताबिक, पुलिस का रवैया शिकायत को लेकर ठीक नहीं है. पीड़ित व्यवसायी मुकेश कुमार की मानें तो जब वे इस मामले की शिकायत करने सरायढेला थाना पहुंचे तो पुलिस ने कार्रवाई और सुरक्षा देने की बात तो दूर, शिकायत दर्ज करने में आनाकानी दिखाई. मुकेश के मुताबिक पुलिस ने सुरक्षा देने की बजाय उन्हें अपनी ज्वेलरी दुकान बंद रखने की सलाह दी.

इन व्यवसायियों को मिली धमकी
आरोप है कि मटकुरिया स्थित रिलायबल इंडस्ट्रीज शोरूम के मैनेजर सुनील सिंह से पांच लाख रुपये की रंगदारी स्पीड पोस्ट से चिट्ठी भेजकर मांगी गई है. वहीं, पुराना बाजार के जेबी ज्वेलर्स के मालिक पवन कुमार सोनी से सात लाख रुपये की रंगदारी वाट्सएप मैसेज के जरिये मांगी गई. झरिया के किराना व्यापारी रुपेश कारीवाल से भी 20 लाख की रंगदारी मांगी गई. ज्वेलरी व्यवसायी शशि भूषण और दिलीप वर्मन से भी 20-20 लाख की रंगदारी मांगी गई. लगातार मांगी जा रही रंगदारी से परेशान धनबाद जिला चैंबर ऑफ कॉमर्स ने मंगलवार को रांगाटांड़ कार्यालय में आपात बैठक बुलाई. बैठक में व्यवसायियों ने इस मामले पर पुलिस के ढुलमुल रवैया का पुरजोर विरोध किया और कार्यशैली पर सवाल उठाए. इस तरह का मामला सबसे ज्यादा बैंक मोड़ थाना और सरायढेला थाना क्षेत्र में सामने आई है.

पुलिस ने दिया सुरक्षा का भरोसा 
बैठक के बाद व्यवसायियों का एक प्रतिनिधिमंडल एसएसपी से मिलने पहुंचा, लेकिन एसएसपी के दिल्ली चले जाने के कारण उनकी मुलाकात डीएसपी विधि व्यवस्था और सिटी एसपी आर कुमार से हुई. इस दौरान व्यवसायियों ने अपनी परेशानी से सिटी एसपी को अवगत कराया. डीएसपी विधि व्यवस्था मुकेश कुमार ने व्यवसायियों को मामले की जांच कर त्‍वरित कार्रवाई करने को भरोसा दिलाया. साथ ही पर्याप्त सुरक्षा मुहैया करने का भी आश्वासन दिया.

रिपोर्ट- अभिषेक कुमारये भी पढ़ें- पत्थलगड़ी का विरोध करने पर अगवा 7 ग्रामीणों में से 5 के शव मिलने की सूचना 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धनबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 11:26 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर