होम /न्यूज /झारखंड /

धनबाद: कोयला कारोबारी प्रमोद सिंह हत्या में 18 साल बाद आया फैसला, सभी 6 आरोपी बरी

धनबाद: कोयला कारोबारी प्रमोद सिंह हत्या में 18 साल बाद आया फैसला, सभी 6 आरोपी बरी

कोयला कारोबारी प्रमोद सिंह यूपी के डान बृजेश सिंह के रिश्तेदार थे.

कोयला कारोबारी प्रमोद सिंह यूपी के डान बृजेश सिंह के रिश्तेदार थे.

Dhanbad News: कोयला कारोबारी प्रमोद सिंह को साल 2003 को धनसार स्थित बीएम अग्रवाल कालोनी में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में 9 लोगों को आरोपी बनाया गया था. इनमें से 3 की सुनवाई के दौरान मौत हो गई. बाकी 6 आरोपियों को कोर्ट ने बरी कर दिया.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- संजय गुप्ता

    धनबाद. कोयला कारोबारी प्रमोद सिंह हत्याकांड मामले में 18 साल बाद सीबीआई कोर्ट ने फैसला सुनाया है. अदालत ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया. इस मामले में 9 आरोपी बनाए गए थे. उनमें से 3 की मौत पहले हो चुकी थी. बाकी 6 आरोपियों को कोर्ट ने बरी कर दिया.

    कोयला कारोबारी प्रमोद सिंह को 3 अक्टूबर 2003 को धनसार स्थित बीएम अग्रवाल कालोनी में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. प्राथमिकी में जनता मजदूर संघ के नेता रामधीर सिंह और राजीव रंजन को अभियुक्त बनाया गया था. बाद में अनुसंधान का जिम्मा सीबीआइ को सौंपा गया. सीबीआइ ने सुरेश सिंह, रणविजय सिंह समेत अन्य के विरुद्ध आरोप पत्र दायर किया. अब 18 साल बाद सीबीआई कोर्ट ने इस मामले में फैसला सुनाया है.

    कोर्ट में सुनवाई के दौरान आरोपी कॉग्रेस नेता सुरेश सिंह, कश्मीरा खान तथा खड़ग सिंह की मौत हो गई, जबकि रणविजय सिंह, संतोष सिंह, अयूब खान, दारोगा एमपी खरवार, अरशद अली और हीरा खान को बरी कर दिया गया.

    कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस नेता रणविजय सिंह ने कहा कि न्यायालय पर मुझे पूरा भरोसा था. इस फैसले से सीबीआई का दोहरे चरित्र उजागर हुआ है. सीबीआई जांच पर सवाल खड़ा करते हुए उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन के द्वारा जो कार्रवाई की जाती है, वह सीबीआई से काफी बेहतर है.

    बता दें कि कोयला कारोबारी प्रमोद सिंह यूपी के डान बृजेश सिंह के रिश्तेदार थे.

    Tags: Dhanbad news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर