होम /न्यूज /झारखंड /

Lockdown में सब्जी बेचने को मजबूर है चैंपियन तीरंदाज, प्रशासन ने उठाया ये कदम

Lockdown में सब्जी बेचने को मजबूर है चैंपियन तीरंदाज, प्रशासन ने उठाया ये कदम

सोनी खातून विद्यालय स्तर पर राष्ट्रीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में पदक प्राप्त कर चुकी है

सोनी खातून विद्यालय स्तर पर राष्ट्रीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में पदक प्राप्त कर चुकी है

23 वर्षीय चैंपियन तीरंदाज (Champion Archer) सोनी खातून का परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा है. इसके कारण उसकी पढ़ाई छूट गई. अब लॉकडाउन (Lockdown) में घर चलाने के लिए उसे सब्जी बेचना पड़ रहा है.

धनबाद. लॉकडाउन (Lockdown) में परिवार चलाने के लिए सब्जी बेचने को मजबूर तीरंदाज (Archer) सोनी खातून को अब जिला प्रशासन का सहारा मिल गया है. जोड़ापोखर थाना क्षेत्र के जियलगोरा शालीमार की रहने वाली चैंपियन तीरंदाज को डीसी अमित कुमार ने कार्यालय बुलाकर 20 हजार रुपये का चेक सौंपा. साथ ही आगे भी हर संभव मदद पहुंचाने का भरोसा दिलाया.

चेक मिलके बाद तीरंदाज सोनी ने कहा कि यह राशि उसे धनुष खरीदने के लिए दिया गया है. इसलिए वह इस पैसे से धनुष खरीदकर अपनी प्रतिभा को आगे बढ़ाएगी. वह अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी बनकर दिखाएगी. इस दौरान सोनी के चेहरे पर खुशी की चमक साफ दिख रही थी. सोनी ने बताया कि डीसी ने उसे आगे भी हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया है. और अंतरराष्ट्रीय तीरंदाज बनकर दिखाने को कहा है.

धनुष के अभाव में बड़े प्रतियोगिताओं में नहीं ले पा रही हिस्सा 

मां शकीला खातून और पिता इदरीश मिंया ने भी इसके लिए डीसी को धन्यवाद दिया. कुछ दिन पहले लॉकडाउन में जियलगोरा किड्स गार्डन के पास सोनी को सब्जी बेचते देखा गया. तब सोनी ने बताया था कि उसके पास धनुष नहीं है, इसलिए वह राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में भाग नहीं ले पा रही है, जबकि विद्यालय स्तर पर राष्ट्रीय प्रतियोगिता में पदक प्राप्त कर चुकी है.

परिवार की माली हालत खराब होने से छूटी पढ़ाई 

23 वर्षीय सोनी का परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा है. इसके कारण उसकी पढ़ाई छूट गई. लॉकडाउन में घर चलाने के लिए उसे सब्जी बेचना पड़ रहा है.बतौर सोनी वह अपनी समस्या को लेकर कई बार पूर्व खेल मंत्री से गुहार लगाई थी. लेकिन सुनवाई नहीं हुई. बीजेपी नेता रागिनी सिंह ने भी जियलगोरा शालीमार स्थित घर जाकर सोनी को सम्मानित किया. और हर तरह के सहयोग का भरोसा दिया. मीडिया में खबर छपने के बाद डीसी ने भी मदद का हाथ बढ़ाया है.

ये भी पढ़ें- कोरोना योद्धा मार्मिक कथा: पति को चरित्र पर शक, सास बेटी से मिलने नहीं दे रही

Tags: Archery Tournament, Dhanbad news, Jharkhand news, Lockdown 5.0

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर