• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • Dhanbad Judge Murder Case: जज उत्तम आनंद की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, जानें कैसे हुई मौत

Dhanbad Judge Murder Case: जज उत्तम आनंद की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, जानें कैसे हुई मौत

धनबाद जज हत्‍याकांड की जांच अब पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर करेगी.

धनबाद जज हत्‍याकांड की जांच अब पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर करेगी.

Dhanbad Judge Murder Case: झारखंड के धनबाद जिला एवं सत्र जज अष्टम उत्तम आनंद (Judge Uttam Anand Death) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट के मुताबिक, जज का जबड़ा और सिर की हड्डी कई जगहों पर टूटी हुई थी.जबकि उत्तम आनंद की सिर पर गंभीर चोट लगने से मौत की पुष्टि हुई है.

  • Share this:

    संजय गुप्‍ता

    धनबाद. झारखंड के धनबाद जिला एवं सत्र जज अष्टम उत्तम आनंद की मौत (Judge Uttam Anand Death) की गुत्थी अब तक अनसुलझी है. इस बीच उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट (Post-Mortem Report) सामने आई है, जिसमें जज का जबड़ा और सिर की हड्डी कई जगहों पर टूटी हुई थी. वहीं, सिर पर गंभीर चोट लगने से उनकी मौत हुई थी. इसके अलावा शरीर पर तीन जगह बाहरी चोट और सात जगह पर अंदरुनी चोट लगी है.

    पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर स्पष्ट है कि जज के शरीर पर चोट लगने की वजह से वह बेसुध होकर गिरे थे. ब्रेन में भी गंभीर चोट लगी थी. इसके अलावा जज के पेट में खून चला गया था. इसके साथ पुलिस ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की जांच होगी. अस्पताल द्वारा पुलिस के अलावा धनबाद के डीसी और एसडीएम को भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट दी गई है.

    गिरफ्तार आरोपियों के नार्को समेत चार टेस्ट की कोर्ट ने दी इजाजत
    कोर्ट ने पुलिस को जज हत्‍याकांड में गिरफ्तार ऑटो चालक लखन वर्मा और राहुल वर्मा के चार तरह के टेस्ट करवाने की इजाजत दे दी है. अब पुलिस गिरफ्तार अभियुक्तों के ब्रेन मैपिंग, नार्को टेस्ट (Narco Test) सहित चार टेस्ट करवाएगी. वहीं, धनबाद (Dhanbad) के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) संजीव कुमार ने बताया कि पुलिस जज मौत मामले में गिरफ्तार अभियुक्तों के चार टेस्ट करवाएगी. इसके अलावा जिले के सभी न्यायिक पदाधिकारियों को पुलिस सुरक्षा देगी. इस केस की न्यायालय में स्टेटस रिपोर्ट सौंपी गई है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के द्वारा केस की जांच पड़ताल के लिए सीबीआई से अनुसंसा की गई है. जब तक सीबीआई इस केस को टेकओवर नहीं करती है तब तक एसआईटी का अनुसंधान जारी रहेगा.

    सीएम हेमंत सोरेन कर चुके सीबीआई जांच की सिफारिश
    यह मामला काफी हाई-प्रोफाइल हो चुका है क्योंकि मारे गए जज आनंद हत्याकांड समेत कुछ और प्रमुख आपराधिक मामलों में सुनवाई कर रहे थे. इस केस में जज आनंद के मारे जाने का कारण अब तक पुलिस नहीं समझ पाई है. आनंद के परिजनों समेत विधायक व कोर्ट आदि भी इस केस में सीबीआई जांच की जरूरत बता चुके थे. जबकि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी सीबीआई जांच की सिफारिश की. हालांकि अभी सीबीआई ने इस मामले में औपचारिक तौर पर कोई जांच शुरू नहीं की है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज