होम /न्यूज /झारखंड /सगे भाई ने करवाई धनबाद के व्यवसायी की हत्या, पुलिस ने श्मशान से दबोचा तो बताई वजह

सगे भाई ने करवाई धनबाद के व्यवसायी की हत्या, पुलिस ने श्मशान से दबोचा तो बताई वजह

धनबाद में हुई हत्या की गुत्थी सुलझाती पुलिस

धनबाद में हुई हत्या की गुत्थी सुलझाती पुलिस

धनबाद के राजगंज में हुई व्यवसायी की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने सगे भाई और एक दोस्त को दबोचा है. पुलिस ने इन दोनो ...अधिक पढ़ें

    हाइलाइट्स

    ज्योति रंजन शर्मा की हत्या उसके सगे भाई सौरभ शर्मा ने ही संपत्ति हड़पने ने लिए करवायी थी.
    हत्या की घटना को अंजाम देने वाला शूटर अभी पुलिस के हाथ नहीं लगा है, वो फरार है.
    29 सितंबर की शाम अपराधियों ने गोली मारकर ज्‍योति रंजन शर्मा की हत्‍या कर दी थी.

    रिपोर्ट- संजय गुप्ता

    धनबाद. धनबाद पुलिस ने व्यवसायी ज्‍योति रंजन शर्मा हत्याकांड का खुलासा कर लिया है. राजगंज थाना क्षेत्र के खरनी मोड़ के समीप सनशाइन कंट्री कॉलोनी में रहने वाले जूस कारोबारी ज्‍योति रंजन शर्मा की गुरुवार 29 सितंबर रात्रि लगभग 8 बजे हत्‍या कर दी गई थी. व्यव्सायी की हत्या की गुत्थी पुलिस ने 48 घण्टे के अंदर सुलझा लिया है. हत्या की साजिश उसके सगे भाई सौरभ कुमार ने अपने दोस्त श्रीकांत मिश्रा के साथ मिलकर रची थी. व्यव्सायी को जिस हथियार से गोली मारी गई थी उस देशी कट्टा को भी पुलिस ने बरामद किया है, साथ ही एक और पिस्टल, दो मोबाइल भी बरामद कर जब्त किया है.

    पुलिस ने हत्या के आरोपी भाई सौरभ कुमार और उसके साथी श्रीकांत मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया है. धनबाद के एसएसपी संजीव कुमार ने अपने कार्यालय में प्रेसवार्ता कर मामले की जानकारी दी. ज्योति रंजन शर्मा की हत्या उसके सगे भाई सौरभ शर्मा ने ही संपत्ति हड़पने ने लिए करवायी थी और बाहर के दो शूटरों को भाई की हत्या करने का सुपारी दी थी. पुलिस के मुताबिक ज्योति रंजन के जूस फैक्ट्री को उसका भाई हड़पना चाहता था, साथ ही भाई से घर में विवाद भी था. पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त एक पिस्टल, एक कट्टा और कार में गिरा हुआ पिस्टल का मैंगनीज बरामद किया गया है. घटना को अंजाम देने में सौरभ शर्मा का दोस्त तेतुलमारी निवासी श्रीकांत मिश्रा का अहम योगदान था.

    इसी के द्वारा रेकी की गई थी. पुलिस ने इन दोनों को गिरफ्तर कर लिया है, वहीं हत्या की घटना को अंजाम देने वाला शूटर अभी पुलिस के हाथ नहीं लगा है और वो फरार है जिसे पुलिस खोजने में लगी है. इसके लिए एसएसपी ने एक टीम भी बनायी है. हत्या के उद्भेदन के लिए भी एक पुलिस टीम बनाई है थी जिसमे ग्रामीण एसपी रेशमा रमेशन, डीएसपी निशा मुर्मू, राजगंग थाना प्रभारी संतोष कुमार, तोपचांची थाना जयराम प्रसाद शामिल थे.

    मालूम हो कि 29 सितंबर गुरुवार की शाम करीब साढ़े सात बजे अपराधियों ने गोली मारकर कार सवार ज्‍योति रंजन शर्मा की हत्‍या कर दी थी. घटना के वक्‍त ज्‍योति रंजन का पांच साल का बेटा भी कार में ही था जबकि पत्नी कार से उतरकर घर का दरवाजा खुलवा रही थी. ज्‍योति रंजन को गोली मारने के बाद अपराधियों ने उसे हिलाकर भी देखा था. इस दौरान मृतक की पत्‍नी दीपा से अपराधियों का आमना-सामना भी हुआ था. पुलिस ने काॅल डिटेल के आधार पर हत्याकांड का खुलासा किया. पुलिस ने हत्याकांड के आरोपी मृतक के भाई को अंतिम संस्कार के दौरान श्मशान घाट से गिरफ्तार किया. पुलिस की पुछताछ में आरोपी ने स्‍वीकार किया कि उसने भाई की फैक्ट्री हड़पने के लिए हत्या की साजिश रची थी.

    Tags: Crime News, Dhanbad news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें