Home /News /jharkhand /

दहेज की मांग, ड्रग्स देकर अवैध संबंध बनाने का दबाव, विवाहिता की मौत का सच क्या है? पुलिस पर भी सवाल

दहेज की मांग, ड्रग्स देकर अवैध संबंध बनाने का दबाव, विवाहिता की मौत का सच क्या है? पुलिस पर भी सवाल

धनबाद की अंजुम आरा की मौत के अनसुलझे रहस्य पर से पर्दा कब उठेगा?

धनबाद की अंजुम आरा की मौत के अनसुलझे रहस्य पर से पर्दा कब उठेगा?

Dhanbad News: अंजुम आरा के परिजनों का आरोप है कि मारपीट तथा अवैध संबंध बनाने का दबाव के आरोप को लेकर धनबाद महिला थाना से लेकर एसडीपीओ, ग्रामीण एसपी तक कई बार आवेदन देने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई. गोविंदपुर थाना क्षेत्र जंगलपुर की अंजुम आरा की शादी मुनीडीह थाना क्षेत्र शास्त्रीनगर में 2020 में हुई थी.

अधिक पढ़ें ...

    (रिपोर्ट-संजय गुप्ता)
    धनबाद. जिले के मुनिडीह ओपी थाना क्षेत्र के गरबूडीह गांव में 29 दिसंबर को विवाहित महिला की मौत के बाद परिजनों ने धनबाद ग्रामीण एसपी कार्यालय के बाहर शव रखकर प्रदर्शन किया. परिजन 30 दिसंबर की शाम 6 बजे से थाने के बाहर शव रखकर प्रदर्शन कर रहे थे. इसकी गूंज अगले दिन यानी 31 दिसंबर को भी जारी रही. चर्चा यही होती रही कि आखिर अंजुम आरा के साथ ससुरालवाले क्यों जुल्म करते थे? इस मामले में सच्चाई क्या है इसकी परतें तो आने वाले वक्त के साथ जरूर खुलेंगी, लेकिन मायकेवालों ने जो आरोप लगाए हैं वे काफी गंभीर हैं. पड़ोस के लोग भी मायकेवालों के आरोपों के साथ खड़े हैं.

    दरअसल, अंजुम आरा गोविंदपुर थाना क्षेत्र जंगलपुर के रहने मोबिन अंसारी की बेटी थी. जून 2020 में पिता के द्वारा रीति-रिवाज के साथ मुनिडीह थाना क्षेत्र शास्त्रीनगर में के रहने वाले रियाजुद्दीन अंसारी से बेटी का निकाह करवाया गया था. आरोपों के अनुसार शादी के बाद से ही नवविवाहिता के साथ ससुराल पक्ष वाले मारपीट किया करते थे. प्रताड़ित करने का क्रम लगातार जारी रहा.

    आरोप के अनुसार विवाहिता को ड्रग्स देकर दूसरे के साथ संबंध बनाने पर पति व ससुराल वाले मजबूर कर रहे थे. ऐसा नहीं करने पर उसके साथ मारपीट की जा रही थी. इस बात की सूचना परिजनों द्वारा 1 साल से स्थानीय मुनीडीह थाना से लेकर महिला थाना, एसडीपीओ, ग्रामीण एसपी, सीनियर एसपी को दी गई थी. लेकिन, गुहार लगाने के बाद भी पुलिस के द्वारा किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की गई.

    गुरुवार को परिजन व पड़ोसी विवाहिता अंजुम आरा को शव को लेकर एसएसपी कार्यालय पहुंचे. एसएसपी कार्यालय परिसर ग्रामीण एसपी कार्यालय के सामने में शव को रखकर परिजन व स्थानीय लोगों ने जमकर प्रदर्शन किया. परिजनों ने आरोप लगाया कि यदि पुलिस पति व ससुराल वालों के खिलाफ कार्रवाई की होती तो आज अंजुम जिंदा रहती.

    मृतक अंजुम आरा के परिजनों ने उसका शव बोकारो के बीजीएच अस्पताल में पड़ा हुआ पाया गया. जिसके बाद पति व ससुराल पर कार्रवाई की मांग को लेकर एसएसपी कार्यालय परिसर में रखकर प्रदर्शन किया. घंटों शव के साथ परिजन प्रदर्शन करते हुए न्याय की गुहार लगाी तथा जांच की मांग की. दोषियों को तत्काल गिरफ्तार करने का मांग की गई.

    इस दौरान धनबाद थाना की पुलिस आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन परिजन स्थानीय वरीय पुलिस को बुलाने की मांग करते रहे.घंटों प्रदर्शन के बाद ट्रैफिक डीएसपी राजेश कुमार मृतक अंजुम के परिजन तथा ग्रामीणो को आश्वासन दिए कि सभी दोषियों को गिरफ्तार किया जाएगा. जिसके बाद शव को लेकर परिजन ग्रामीण एसपी कार्यालय से वापस गए.

    वहीं, मृतक अंजुम के पिता मो. मोबिन अंसारी ने कहा कि उसकी बेटी के साथ ससुराल वाले हमेशा मारपीट करते थे. गलत काम करने के लिये विवश किया जाता था. पुलिस से 1 साल से गुहार लगाते रहे, लेकिन कोई कार्रवाई नही की गयी. अब उसकी बेटी का शव उसे मिला है. पुलिस समय पर कार्रवाई करती तो बेटी जिंदा होती.

    स्थानीय लोगों का कहना है कि पिछले तीन महीने से अंजुम को उसके ससुराल वालों द्वारा प्रताड़ित करने के शिकायत की जा रही थी. ससुराल वालों के द्वारा 5 लाख रुपए और एक ऑल्टो कार मांगी जा रही थी. इसके लिए उन्होंने 12 दिसंबर तक समय दिया था, लेकिन इतने पैसे नहीं थे कि ससुराल वालों की मांग पूरी की जा सके.

    आरोप ये भी हैं कि ससुराल के लोगों द्वारा अंजुम को जबरन ड्रग्स जैसी नशीली चीजे खिलाई जाती थी. दूसरे के साथ शारिरिक संबंध बनाने के लिए ससुराल वालों के द्वारा लगातार अंजुम के साथ मारपीट की जाती थी. मामले को लेकर पुलिस के वरीय अधिकारियों के समक्ष भी शिकायत की गई, लेकिन पुलिस द्वारा कभी शिकायत की ओर ध्यान नहीं दिया गया.

    परिजनों का कहना है कि तीन दिन पहले ससुराल के आसपास के लोगों द्वारा सूचना दी गई थी. अंजुम घर पर नहीं है, यह सूचना भी पुलिस को अंजुम के पिता ने दी थी. साथ ही अंजुम की खोजबीन करने का आग्रह किया. लेकिन, पुलिस ने गुहार अनसुनी कर दी. फिर ससुराल के आसपास के लोगों ने सूचना देते हुए बताया कि अंजुम को बीजीएच अस्पताल ले जाया गया है. परिजन जब अस्पताल पहुंचे तो अंजुम को मृत पाया. अंजुम के परिजनों ने पति और ससुराल वालों के ऊपर हत्या करने का आरोप लगाया है. साथ ही पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठाया है.

    Tags: Dhanbad news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर