Home /News /jharkhand /

झारखंड में जेल से रंगदारी का खेल, गैंगस्टर अमन सिंह और नन्हें खान के गुर्गे कर रहे डिमांड!

झारखंड में जेल से रंगदारी का खेल, गैंगस्टर अमन सिंह और नन्हें खान के गुर्गे कर रहे डिमांड!

Jharkhand News: झारखंड में व्यवसायियों से जेल से कॉल करके रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है.

Jharkhand News: झारखंड में व्यवसायियों से जेल से कॉल करके रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है.

Jharkhand News: झारखंड के धनबाद जिले में फिर एक बार अमन सिंह गैंग सक्रिय होने लगा है. धनबाद जिले के व्यवसायियों को लगातार रंगदारी के लिये कॉल आ रहे हैं. कभी अमन सिंह के गुर्गों तो कभी नन्हे सिंह हत्या के मुख्य आरोपी प्रिंस खान के गुर्गे लोगों से फोन करके रंगदारी मांग रहे हैं हैं. वहीं अपराधी रंगदारी नहीं देने पर व्यवसायियों को जान से मरने की धमकी भी दी जा रही है.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट-संजय गुप्ता 

धनबाद. झारखंड के धनबाद जिले में फिर एक बार अमन सिंह गैंग सक्रिय होने लगा है. धनबाद जिले के व्यवसायियों को लगातार रंगदारी के लिये कॉल आ रहे हैं. कभी अमन सिंह के गुर्गों के द्वारा तो कभी नन्हे सिंह हत्या के मुख्य आरोपी प्रिंस खान के गुर्गे लोगों से फोन करके रंगदारी मांग रहे हैं हैं. वहीं अपराधी रंगदारी नहीं देने पर व्यवसायियों को जान से मरने की धमकी भी दी जा रही है. वहीं इस तरह लगातार धमकी भरा रंगदारी कॉल आने से व्यव्सायी वर्ग में भय का माहौल बन गया है. व्यवसायियों को खुद की और अपने परिवार की जान की चिंता सताने लगी है.

लोगों को सबसे ज्यादा हैरानी हो रही है कि जेल में बंद होने के बावजूद भी अपराधी कॉल करके कैसे रंगदारी मांग रहे हैं. मिली जानकारी के अनुसार बाघमारा पुलिस अनुमण्डल क्षेत्र कतरास थाना अंतर्गत पचगढ़ी निवासी जय राजगढ़िया को अमन सिंह गैंग द्वारा धमकी दी गई है. इनसे वाट्सएप कॉल एवं मैसेज के जरिये 50 लाख रुपये की डिमांड की गई है. मैसेज और कॉल करने वाला अपने आपको को अमन सिंह का भाई छोटू सिंह अमन बता रहा है.पीड़ित कतरास एवं धनबाद में एक मोबाइल व्यवसाय से जुड़े हैं.

वाट्सएप कालिंग व मैसेज के जरिये मांगी जा रही र्ंगदारी 

वहीं व्यवसायी जय राजगढ़िया को कुख्यात अमन सिंह गिरोह के द्वारा मोबाइल पर वॉट्सऐप कालिंग तथा वाट्सएप मैसेज के जरिये खुली धमकी कई दिनों से मिल रही है. इस संबंध में पीड़ित व्यवसायी ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि पिछले कई दिनों से उनके मोबाइल पर वाट्सएप कालिंग व वाट्सएप मैसेज के जरिये रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी जा रही है.कोयला व्यव्सायी निरज तिवारी हत्या आरोप में धनबाद जेल में बंद रौनक गुप्ता द्वारा भी कॉल किया गया था.पूर्व में विकास बजरंगी, रौनक गुप्ता उनका लोकेशन दिया करता था.

जेल में कैसे मिलता है मोबाइल?

सबसे बड़ा सवाल है कि जब अपराधी जेल में बंद हैं तो जेल के अंदर से फोन कैसे किया जा रहा है ? आखिर पुलिस की व्यवस्था क्या है? इस मामले में व्यवसायियों ने धनबाद एसएसपी संजीव कुमार से मिल कर शिकायत की है. वहीं एसएसपी संजीव कुमार ने कहा कि ये कोई गैंग्स नही हैं, निचले स्तर छोटे-मोटे अपराधी हैं. जल्द ही ये पुलिस के गिरफ्त में होंगे. जो भी ऐसे गैंग वाले थे करीब सभी लोग जेल में बंद हैं, जो बचे है वह भागे हुए हैं.

Tags: Dhanbad news, Extortion, Jharkhand News Live

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर