अपना शहर चुनें

States

सोशल मीडिया से पता लगने पर पहुंचे पिता को मिली जिंदा बेटे की जगह लाश

आपबीती सुनाते मृतक के पिता
आपबीती सुनाते मृतक के पिता

सोशल मीडिया की वायरल खबर ने एक पिता को उसके लापता बेटे का पता तो बता दिया मगर अफसोस की पिता और परिजन के पहुंचने से पहले बेटा दम तोड़ चुका था.

  • Share this:
सोशल मीडिया की वायरल खबर ने एक पिता को उसके लापता बेटे का पता तो बता दिया मगर अफसोस की पिता और परिजन के पहुंचने से पहले बेटा दम तोड़ चुका था. रेल पुलिस से लेकर जिला पुलिस तक किसी ने इस अज्ञात युवक के बारे कोई पड़ताल नहीं की ना ही संबंधित बंगाल पुलिस को ही इसकी सूचना दी गई.घटना यूं है कि 8 जून से पक्षिम बंगाल के कोलकाता से नीलेश कुमार सिंह लापता था. परिजनों को अपने परिवार और रिश्तादारी में खोजबीन के बाद जब वह नहीं मिला तो पश्चिम बंगाल कलकाता के स्थानीय पुलिस स्टेशन में मिसिंग शिकायत दर्ज कराई थी.

अचानक सोशल मिडिया में अखबार की कटिंग से मालूम चला की युवक धनबाद के पीएमसीएच में भर्ती है. इसके बाद परिजन मंगलवार को धनबाद पंहुचे तो मालूम चला की नीलेश की मौत इलाज के दौरान हो गई. एक बड़ा सवाल यह है कि वह जला कैसे ? जलने के बाद वह ट्रेन के मालगाड़ी के डब्बे में कैसे पहुंचा ? उसका मौत का ज़िम्मेवार कौन है ? स्थानीय पुलिस और रेल पुलिस ने सही से अपनी जिम्मेवारी क्यू नहीं निभायी? स्थानीय पुलिस अब रेल पुलिस को ज़िम्मेदार बता रही है.

धनबाद के कुसुंडा रेल साइडिंग में यह युवक जली हई हालत में रेल पुलिस को मिला था. इसके बाद आरपीएफ ने युवक को धनबाद के पीएमसीएच में भर्ती करा दिया.यहां युवक की इलाज के दौरान 10 जून को मौत हो गई. वहीं पुलिस का कहना है कि वह मृतक के परिजन की खोज कर ही रही थी. मगर परिजन सोशल मीडिया पर समाचार पत्रों में छापे कटिंग से ही धनबाद पीएमसीएच पंहुचे जिसके बाद पूरा मामला सामने आया.पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है, साथ ही परिजन के बयान दर्ज किए हैं.कहा जा रहा है कि घरेलू विवाद में  नीलेश 8 जून को घर छोड़ चला गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज