अपना शहर चुनें

States

मदद के लिए गोद में उठाया, तो भीड़ ने बच्चा चोर समझकर वनकर्मी को पीट डाला

बच्चा चोर होने के शक पर वनप्रहरी की जमकर पिटाई
बच्चा चोर होने के शक पर वनप्रहरी की जमकर पिटाई

एक महिला के अनुरोध पर वनप्रहरी (Forest Guard) ने उसके बच्चे को गोद में उठाया था. लेकिन आस-पास के लोगों ने उसे बच्चा चोर समझकर जमकर पिटाई कर दी.

  • Share this:
धनबाद. जिले में बच्चा चोरी की अफवाह (Rumor of Child Theft) पर कानून को हाथ में लेने की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. आए दिन कोई न कोई भीड़ का शिकार हो रहा है. रविवार शाम को बरवाअड्डा में बच्चा चोर होने के शक पर वनप्रहरी (Forest Guard) की पिटाई कर दी गई. दरअसल एक महिला के अनुरोध पर वन प्रहरी ने उसके बच्चे को गोद में उठाया था. लेकिन आस-पास के लोगों ने उसे बच्चा चोर समझकर जमकर पिटाई कर दी. घटना बरवाअड्डा के लोहारबरवा सब्जी पट्टी की है.

घटना की सूचना मिलने पर बरवाअड्डा थानाप्रभारी ज्योतिष कुमार जयसवाल दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और पीड़ित काली गोस्वामी को भीड़ से बचाया. पुलिस के मुताबिक 50 वर्षीय वनप्रहरी को महिला की मदद करना महंगा पड़ा.

बच्चा चोरी के अफवाह पर वनप्रहरी की पिटाई
दरअसल 26 वर्षीय महिला बबीता देवी अपने दो छोटे बच्चों एवं बुजुर्ग पिता अर्जुन तुरी के साथ डुमरी से ओझाडीह कटनियां स्थित मायके जा रही थी. इसी दौरान बरवाअड्डा में ऑटो पकड़ने के दौरान काली गोस्वामी ने उसकी मदद करने की कोशिश की. उसके बच्चों को गोद में लेकर ऑटो में बैठाने की कोशिश की. लेकिन लोगों ने उसे बच्चा चोर समझ लिया और पकड़ कर जमकर पिटाई कर दी.
पुलिस के सामने महिला ने स्वीकार किया कि उसी के कहने पर काली गोस्वामी ने उसके बच्चे को गोद में लिया था. काली गोस्वामी हजारीबाग के गोरहर का रहने वाला है. वह वहीं पर वन प्रहरी के रूप में पदस्थापित है. घटना के दौरान वह भी नशे में धुत था.



(रिपोर्ट- अभिषेक कुमार)

ये भी पढ़ें- 

ट्रैफिक रुल्स के नाम पर फैलाया जा रहा ट्रैफिक टेररिज्म- हेमंत सोरेन
इलाज के लिए आश्रम गई थी दलित महिला, अब बाबा पर दुष्‍कर्म का लगाया आरोप
झारखंड सरकार की हिट लिस्ट में ये दो हार्डकोर नक्सली, एक करोड़ का इनाम घोषित


 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज