धनबाद में बंद पड़े खदान से तेज गैस रिसाव, मची अफरा-तफरी, लोगों को सांस लेने में तकलीफ

पिछले 10 दिन से यहां गैस का रिसाव हो रहा है.

पिछले 10 दिन से यहां गैस का रिसाव हो रहा है.

Dhanbad News: स्थानीय लोगों का कहना है कि बंद चानक से हल्की-हल्की गैस पिछले दस दिनों से निकल रही छी. लेकिन सोमवार को तेजी से गैस रिसाव शुरू हो गया.

  • Share this:

रिपोर्ट- संजय गुप्ता 

धनबाद. झारखंड के धनबाद में बीसीसीएल कोलयरी (BCCL Mines) से आये दिन गैस रिसाव की घटना सामने आती रहती है. बीसीसीएल के चालू कोलयरी के साथ-साथ बंद पड़े दर्जनों चानक से भी गैस रिसाव होता रहता है. यह गैस जहरीली होती है, जो पर्यावरण के साथ- साथ इंसानों के लिये घातक साबित हो रही है. बीसीसीएल के झरिया क्षेत्र के कोलयरी में गैस रिसाव की घटनाएं हाल के दिनों में बढ़ी हैं. बारिस होने पर यहां गैस रिसाव तथा भू-धसान की घटनाएं बढ़ जाती हैं.

सोमवार को धनबाद के गोधर-6 नम्बर में बंद पड़े चानक से तेजी गैस रिसाव होने लगा. इससे आसपास के लोगों में दहशत का माहौल बन गया. बंद चानक के आसपास में लोग बसे हुए हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि बंद चानक से हल्की-हल्की  गैस पिछले दस दिनों से निकल रही छी. लेकिन सोमवार को तेजी से गैस रिसाव शुरू हो गया. पूर्व में बीसीसीएल प्रबंधन को मामले की सूचना दी गई थी. प्रबंधन ने मौके पर पहुंचकर स्थान का निरीक्षण भी किया. लेकिन गैस रिसाव को बंद करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया. लोगों ने कहा कि गैस के कारण उन्हें घूटन महसूस होती है. बीसीसीएल प्रबंधन से अविलंब इसे ठीक करने की मांग लोगों ने की.

बता दें कि इस तरह के गैस रिसाव के कारण स्थानीय लोग कई बीमारी के शिकार हो जाते हैं. लेकिन इसके रोकथाम के लिये बीसीसीएल कभी भी गम्भीर नहीं होती है. जहां तक पुर्नवास की बात है वह भी बीसीसीएल नहीं करती है. पुर्नवास नहीं होने का कारण बीसीसीएल की नीतियां हैं, जिसका विरोध स्थानीय करते रहे हैंय उचित मुआवजा तथा सुरक्षित स्थान पर विस्थापन नहीं होने के कारण लोग खतरे में रहने को विवश होते हैं. वहीं जिला प्रशासन भी विस्थापन को लेकर कोई कारगर प्रयास नहीं करता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज