अपना शहर चुनें

States

मंत्री ने कहा- श्वेत क्रांति लाना झारखंड सरकार की मंशा

मंत्री रणधीर सिंह ने धनबाद के भुदा में अवस्थित मेघा डेयरी  प्लांट का अवलोकन किया.
मंत्री रणधीर सिंह ने धनबाद के भुदा में अवस्थित मेघा डेयरी प्लांट का अवलोकन किया.

झारखंड में श्वेत क्रांति लाना झारखंड सरकार की मंशा है. यही वजह है कि रांची में 1 लाख लीटर की, इसके अलावा राज्य के अन्य हिस्सों में कहीं 50 हजार लीटर तो कहीं 30 हजार लीटर के डेयरी प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं.

  • Share this:
कृषि एवं पशुपालन मंत्री रणधीर सिंह सोमवार को धनबाद पहुंचे. इसके बाद मंत्री धनबाद के भुदा में अवस्थित मेघा डेयरी के प्लांट का अवलोकन करने भुदा गए. प्लांट के अवलोकन के बाद मीडिया से बात करते हुए मंत्री रणधीर सिंह ने कहा कि पहले यहां पर 5 हजार लीटर क्षमता वाला मैनुअल डेयरी प्लांट था जो 2008 से चल रहा था. मगर पिछले चार साल से यह प्लांट बंद था. उन्होंने कहा कि अब इस प्लांट को 30 हजार लीटर की क्षमता के साथ अत्याधुनिक ऑटोमेटिक डेयरी प्लांट के रूप में तब्दील कर दिया जाएगा.

मंत्री ने आगे कहा कि इसे झारखंड स्टेट मिल्क फेडरेशन को दिया जाएगा. साथ ही यह भी कहा कि इसी माह के अंत में सारी प्रक्रियाओं को पूरा कर जुलाई माह से किसानों से दूध का कलेक्शन शुरू कर दिया
जाएगा. बहुत जल्द यह डेयरी प्लांट अस्तित्व में आ जाएगा.

इसके अलावा मंत्री ने बताया कि झारखंड में श्वेत क्रांति लाना झारखंड सरकार की मंशा है. यही वजह है कि रांची में 1 लाख लीटर की, इसके अलावा राज्य के अन्य हिस्सों में कहीं 50 हजार लीटर तो कहीं 30 हजार लीटर के डेयरी प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं.
उन्होंने कहा कि किसानों को उनका भरपूर मूल्य मिल सके इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर पहल किए जा रहे हैं. साथ में हर एक जिले में 50 हजार बीपीएल परिवारों को गाय दिया गया है. उन्हीं गायों के दूध को यहां डेयरी प्लांट में लिया जाएगा. खासकर ग्रामीण क्षेत्रों के दूध का कलेक्शन किया जाएगा. इसके बावजूद अगर दूध की कमी होती है तो धनबाद के आसपास के जिलों से भी दूध का कलेक्शन करके इस डेयरी प्लांट में लाया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज