झारखंड-बंगाल बॉर्डर पर लगा प्रवासियों का जमावड़ा, ममता सरकार नहीं दे रही घुसने की इजाजत
Dhanbad News in Hindi

झारखंड-बंगाल बॉर्डर पर लगा प्रवासियों का जमावड़ा, ममता सरकार नहीं दे रही घुसने की इजाजत
झारखंड-बंगाल की सीमा पर फंसी पर्यटकों की बस

धनबाद में झारखंड-बंगाल की सीमा पर सैकड़ों मजदूरों (Laborers) को रोक दिया गया है. ये वे मजदूर हैं, जो दूसरे राज्यों से अपने घर पश्चिम बंगाल लौट रहे हैं.

  • Share this:
धनबाद. देशभर में कोविड-19 संक्रमण को लेकर लॉकडाउन (Lockdown) जारी है. हालांकि इधर-उधर फंसे लोगों को अपने-अपने राज्य लौटने की अनुमति दे दी गई है. लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार प्रवासी मजदूरों (Laborers) को अपने राज्य में घुसने नहीं दे रही है. 30 दिन तक लॉकडाउन में गुजरात में फंसे रहने के बाद अपने खर्च पर बस से पहुंचे लोगों को बंगाल में जाने की अनुमति नहीं मिल रही है.

झारखंड- बंगाल की सीमा पर सैकड़ों मजदूर फंसे

झारखंड- बंगाल की सीमा पर सैकड़ों मजदूरों को रोक दिया गया. ये वे मजदूर हैं, जो दूसरे राज्यों से अपने घर पश्चिम बंगाल लौट रहे हैं. लेकिन अपने राज्य की सीमा पर आकर इन्हें अपने प्रदेश में घुसने का परमिशन नहीं दिया जा रहा है. इस मामले पर बंगाल सरकार की ओर से कोई पहल भी नहीं हो रही है, जबकि झारखंड सरकार के अधिकारी बंगाल के अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं. बावजूद इसके बंगाल से कोई ठोस जवाब नहीं मिल रहा है. ऐसे में ना सिर्फ मजदूर, बल्कि पर्यटकों की भी कई बसें सीमा पर फंसी हुई हैं. इनको बंगाल सरकार के आदेश का इंतजार है.



ममता सरकार के रवैये से नाराजगी 
महिलाएं, बुजुर्ग और बच्चों के अलावे इन बसों में कई ऐसे लोग भी हैं, जो शारीरिक रूप से अस्वस्थ हैं. ये लोग ममता सरकार के इस रवैये से नाराज है और उसे कोस रहे हैं. कोलकाता से पर्यटकों की एक टोली अहमदाबाद गई थी. इस टोली को भी बॉर्डर पर यह कह रोक दिया गया है कि प्रवेश को लेकर सरकार की ओर से क्लीयरेंस नहीं है.

पर्यटकों की बस को भी नहीं मिल रही इजाजत

पर्यटकों ने बताया कि वे लोग लॉकडाउन में अहमदाबाद में फंसे गए और वहां क्वारंटाइन रहे. 38 दिन बाद वहां से अपने राज्य बंगाल जाने की अनुमति मिली. गुजरात सरकार ने बस का इंतजाम कर दिया. कई राज्यों को पार कर जब वे अपने राज्य की सीमा पर पहुंचे हैं, तो उन्हें क्लीयरेंस नहीं दी जा रही है. बंगाल सरकार को ये बताना चाहिए कि लोगों को अपना घर जाने दिया जाएगा या नहीं.

बंगाल के अधिकारियों ने लिया बॉर्डर का जायजा

बंगाल सरकार की ओर से आसनसोल के पुलिस कमिश्नर और डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने बार्डर का जायजा लिया. बॉर्डर पर तैनात राज्य के अधिकारियों से कई मामलों पर चर्चा की और निर्देश भी दिए. लेकिन बॉर्डर पर फंसे प्रवासियों को लेकर उन्होंने अपनी जुबां नहीं खोली. पुलिस कमिश्नर एसके जैन ने सिर्फ इतना कहा कि वो इसी संदर्भ में जायजा लेने पहुंचे हैं. आगे देखेंगे कि कैसे प्रवासियों को राज्य में प्रवेश करने की अनुमति दी जाती है.

इनपुट- दिलीप कुमार

ये भी पढ़ें- 3 ट्रेनों में 3500 मजदूर लौटे झारखंड, हटिया स्टेशन पर 10 कोरोना संदिग्ध मिले
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading