Home /News /jharkhand /

विधानसभा में उठा कुपोषण का मुद्दा, जीडीएसपी में 8.83 प्रतिशत ग्रोथ रेट

विधानसभा में उठा कुपोषण का मुद्दा, जीडीएसपी में 8.83 प्रतिशत ग्रोथ रेट

झारखंड विधानसभा के बजट सत्र का आज चौथा दिन है.

झारखंड विधानसभा के बजट सत्र का आज चौथा दिन है.

झारखंड विधानसभा के बजट सत्र का आज चौथा दिन है.

    झारखंड विधानसभा के बजट सत्र का आज चौथा दिन है. गुरुवार को जहां सरकार के मंत्रियों को कई चुनौतिपूर्ण सवालों का सामना करना पड़ा, वहीं सदन में आर्थिक सर्वेक्षण भी पेश किया गया.

    कुपोषण के सवाल पर सूझा नहीं जवाब

    प्रश्नकाल में कांग्रेस विधायक सुखदेव भगत ने राज्य में कुपोषण से बच्चों की मौत का मामला उठाया. जिसके जवाब में संबंधित मंत्री लुइस मरांडी ने इस संबंध में जानकारी नहीं रहने की बात कही. जिसपर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मामले को गंभीर विषय बताते हुए इस समस्या को अगले चार वर्षों में खत्म करने का भरोसा सदन को दिया.

    वहीं एक सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री नीरा यादव ने कहा कि RTE के तहत निजी स्कूलों में बीपीएल बच्चों के दाखिले को सुनिश्चित कराया जाएगा और सरकार इसका कड़ाई से पालन करायेगी.

    राशन कार्ड गड़बड़ी पर सवाल
    उधर माले विधायक राजकुमार यादव ने राशन कार्ड वितरण में गड़बड़ी का मुद्दा उठाया. जिसके जवाब में मंत्री सरयू राय ने 1 लाख 58 हजार 208 फर्जी राशन कार्ड को रद्द करने की बात कही. मंत्री ने कहा कि सरकार अब ई-राशन कार्ड की व्यवस्था करने जा रही है.

    विनय हत्याकांड का भी उठा मसला

    शून्यकाल में विनय हत्याकांड का मामला जेवीएम के प्रदीप यादव समेत दूसरे सदस्यों ने उठाया. सदस्यों ने इसकी जांच सीबीआई से कराने और सरकार से इस मामले में घोषणा करने की मांग की. भाजपा विधायक राधाकृष्ण किशोर ने नगर विकास मंत्री सीपी सिंह से पूछा कि ऊर्जा विभाग की RAPDRP योजना के तहत कितने शहरों को आच्छादित किया गया. मंत्री ने इसका जबाव बाद में विस्तार से देने का भरोसा दिया.

    विधानसभा में आर्थिक सर्वेक्षण 2015-16 पेश
    गुरुवार को बजट सत्र के दौरान मंत्री सरयू राय ने आर्थिक सर्वेक्षण रिपेार्ट 2015-16 पेश की. रिपोर्ट के हवाले बताया गया कि जीडीएसपी में 8.83 प्रतिशत ग्रोथ रेट दर्ज की गई है.स्थिर मूल्य पर प्रति व्यक्ति आय 33260 रू. बतायी गई. वहीं वर्तमान मूल्य पर प्रति व्यक्ति आय 59114 रूपए बतायी गई.
    राजेश कुमार, रांची.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर