• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • Dhanbad Judge Death: हाईप्रोफाइल केस की सुनवाई कर रहे जज की मौत, CCTV से हत्या का आशंका, देखें VIDEO

Dhanbad Judge Death: हाईप्रोफाइल केस की सुनवाई कर रहे जज की मौत, CCTV से हत्या का आशंका, देखें VIDEO

सीसीटीवी में जान बूझकर टक्कर मारता दिखा टेम्पो (इनसेट में जस्टिस आनंद).

सीसीटीवी में जान बूझकर टक्कर मारता दिखा टेम्पो (इनसेट में जस्टिस आनंद).

Dhanbad Judge Death in Accident: झारखंड पुलिस की सात टीमें जज की कथित हत्या के मामले की जांच कर रही है. इस मामले की CBI से जांच कराने की भी मांग उठने लगी है.

  • Share this:

    संजय गुप्ता

    धनबाद. मॉर्निंग वॉक पर निकले जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद की दुर्घटना​ में मौत का जो सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, उससे काफी हद तक यह स्पष्ट हुआ है कि ऑटो ने टक्कर जानबूझकर मारी. पूर्व विधायक के करीबी रंजय हत्याकांड जैसे कई महत्वपूर्ण मामलों में सुनवाई करने वाले जज की मौत को हत्या का मामला मानकर पुलिस हर पहलू की जांच में जुटी है. पुलिस के आला अफसरों का कहना है कि जल्द ही इस कांड का खुलासा कर दोषियों को सज़ा दिलवाई जाएगी. वहीं, विधायक ने इस केस में सीबीआई जांच की मांग कर दी है.

    धनबाद के जिला एवं सत्र न्‍यायाधीश उत्तम आनंद बुधवार सुबह मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे, तभी रणधीर वर्मा चौक के नज़दीक एक ऑटो ने उन्‍हें टक्कर मार दी थी. टक्कर से मारे गए जज की मौत की घटना सीसीटीवी में कैद हो गई, जिसमें दिखाई दिया कि टेम्पोनुमा ऑटो पहले सीधे सड़क पर जा रही था और जज सड़क किनारे वॉक कर रहे थे. लेकिन आचनक सड़क किनारे आकर ऑटो जज को टक्कर मारकर फरार हो गया. अब पुलिस इस मामले में हत्या के एंगल से भी जांच कर रही है लेकिन मीडिया से दूरी बना रखी है.

    चोरी के ऑटो का किया गया इस्तेमाल!
    ताज़ा खबरों की मानें तो पुलिस जांच में यह पता चला है कि जज की संदिग्ध हत्या में इस्तेमाल किया गया ऑटो चोरी का था. इस मामले में एक खबर में कहा गया है कि यह ऑटो पाथरडीह निवासी सुगनी देवी के नाम पर दर्ज है, जबकि सुगनी का कहना है कि रात में उसका ऑटो चोरी हो गया था और वारदात को अलसुबह अंजाम दिया गया. इस खुलासे के बाद पुलिस कड़ियां जोड़ने और कथित तौर पर धनबाद के दबंगों से पूछताछ करने की तैयारी कर रही है.

    रंजय हत्याकांड की सुनवाई कर रहे थे आनंद
    मृतक जज पूर्व विधायक संजीव स‍िंंह के करीबी रंजय हत्याकांड के मामले में सुनवाई कर रहे थे. यह एक महत्वपूर्ण बात है इसलिए पुलिस इस घटना की गंभीरता से जांच कर रही है. इस मामले में तीन दिन पहले ही जज आनंद ने उत्तर प्रदेश के इनामी शूटर अभिनव सिंह और होटवार जेल में बंद अमन सिंह से ताल्लुक रखने वाले शूटर रवि ठाकुर व आनंद वर्मा की जमानत का आवेदन खारिज किया था. इसके साथ ही, आनंद कतरास में राजेश गुप्ता के घर पर बमबाज़ी के मामले जैसे कुछ और संवेदनशील केसों की सुनवाई कर रहे थे.

    jharkhand news, jharkhand murder case, dhanbad murder case, judge murder case, झारखंड न्यूज़, झारखंड हत्याकांड, धनबाद हत्याकांड, जज हत्याकांड

    पुलिस के आला अफसरों ने मृतक ​जस्टिस आनंद के परिजनों और अन्य न्यायाधीशों को काफी देर तक सफाई दी.

    क्या कहते हैं ज़िम्मेदार?
    जज आनंद की संदिग्ध मौत के बाद परिजनों व श्रद्धांजलि देने पहुंचे अन्य न्यायधीशों ने डीआईजी से कहा कि यह कोई दुर्घटना नहीं, बल्कि यह हत्या है. टक्कर मारने वाले ऑटो के बारे में भी परिजनों व न्यायाधीशों ने डीआईजी से जानकारी ली. बोकारो क्षेत्र के डीआईजी मयूर पटेल ने समझाने की कोशिश की और बताया कि पुलिस की सात टीमें इस मामले की जांच में लगाई गई हैं. बकौल डीआईजी मयूर पटेल :

    ‘इस गंभीर घटना को लेकर अनुसंधान किया जा रहा है. अलग अलग टीमें तफ्तीश कर रही हैं. जांच के क्रम में सामने आ रहे सभी बिंदुओ पर पुलिस जांच कर रही है और जल्द ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.’

    वहीं धनबाद के विधायक राज सिन्हा ने न्यायिक अधिकारी पर हमले को चिंता का विषय बताया. सिन्हा के मुताबिक ‘सीसीटीवी फुटेज से साफ है कि यह हादसा नही हत्या है. यह केस सरकार व प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है. मैं इस मामले की सीबीआई जांच की मांग करता हूं.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज