Home /News /jharkhand /

झारखंड: सीएम और ‘सीएमडी’ ने नहीं सुनी फरियाद तो बिजली के लिए 72 घंटे के धरने पर बैठ गए विधायक

झारखंड: सीएम और ‘सीएमडी’ ने नहीं सुनी फरियाद तो बिजली के लिए 72 घंटे के धरने पर बैठ गए विधायक

Jharkhand News: धनबाद के विधायक बिजली की समस्या को लेकर 72 घंटे के धरने पर बैठ गए हैं.

Jharkhand News: धनबाद के विधायक बिजली की समस्या को लेकर 72 घंटे के धरने पर बैठ गए हैं.

Jharkhand News: झारखंड के धनबाद जिले में एक बड़ा ही अजीब मामला सामने आया है. दरअसल यहां लगातार गुल रह रही बिजली से परेशान होकर स्थानीय विधायक 72 घंटे के लिए धरने पर बैठ गए. बता दें, धनबाद जिले में बिजली की लचर व्यवस्था ने लोगों की मुसीबतों को बढ़ा दिया है. इस समस्या को लेकर धनबाद विधायक राज सिन्हा सीएम हेमंत सोरेन, जेवीएनल सीएमडी अविनाश कुमार से भी मिल चुके हैं लेकिन अब तक इलाके के लोगों को बिजली की समस्या से राहत नहीं मिल पायी है.

अधिक पढ़ें ...

    धनबाद. झारखंड के धनबाद जिले में एक बड़ा ही अजीब मामला सामने आया है. दरअसल यहां लगातार गुल रह रही बिजली से परेशान होकर स्थानीय विधायक 72 घंटे के लिए धरने पर बैठ गए. बता दें, धनबाद जिले में बिजली की लचर व्यवस्था ने लोगों की मुसीबतों को बढ़ा दिया है. आम लोग हो या खास या फिर छोटे-बड़े व्यवसायी सभी वर्ग धनबाद में इन दिनों बिजली की समस्या से परेशान हैं. सही समय पर बिजली नहीं आने के कारण लोगों को कई तरह के नुकसान भी उठाने पड़ रहे हैं. ऐसे में अब बिजली की कुव्यवस्था से नाराज होकर धनबाद भाजपा विधायक राज सिन्हा ने मोर्चा खोल दिया है. वह रणधीर वर्मा चौक में बिजली की समस्या से निराकरण की मांग को लेकर अपने कार्यकर्ताओं के साथ 72 घंटे के धरने पर बैठ गए हैं.

    बता दें, दो दिन पहले ही बिजली की लचर व्यवस्था को लेकर चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधियों ने बिजली जीएम से मिलकर समस्या निदान का आग्रह किया था. साथ ही व्यवस्था सुधार नहीं होने पर आंदोलन की भी चेतावनी दी थी. अब विधायक से आम लोग बिजली समस्या की शिकायत लेकर लगातार पहुच रहे थे. मौखिक लिखित आग्रह के बाद भी विभाग, सरकार के द्वारा निराकरण नहीं होने पर विधायक खुद धरना पर बैठ गए.

    ‘हर जगह लगाई फरियाद’ 

    इस दौरान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे विधायक राज सिन्हा ने कहा कि 24 घंटे में 15 से 16 घंटे बिजली की कटौती की जा रही है. आम लोगों को महज 4 से 5 घंटे बिजली मिल रही है, जिससे हर वर्ग परेशान है. लोग अपनी समस्या को लेकर उन तक पहुचते हैं. वह बार-बार लोगों को आश्वासन देकर वापस भेज देते हैं. उन्होंने इस समस्या को झारखंड विधानसभा में भी उठाया था. साथ ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात कर भी समस्या के निदान के लिए अपील की गई. वहीं बीजेपी के शीर्ष नेताओं के नेतृत्व में जेवीएनल सीएमडी अविनाश कुमार से भी मुलाकात की गई. लेकिन, सभी का चक्कर लगाते-लगाते अब पूरी तरह से थक चुके हैं. इसलिए मजबूरन धरना पर बैठना पड़ा.

    पानी की सप्लाई में भी हुई कमी 

    बीजेपी विधायक ने बताया कि पूर्व में जिले में 65 एमएलडी पानी की सप्लाई की जाती थी. अब 65 से घटाकर पानी की सप्लाई 40 एमएलडी कर दी गई है. बिजली और पानी जीवन के लिए अत्यंत जरूरी है. लेकिन, सरकार की कुम्भकर्णी निद्रा नहीं टूट रही है. इसलिए सरकार को जगाने के लिए आज से 72 घंटे का आंदोलन शुरू किया गया है.

    Tags: CM Hemant Soren, Electricity problem, Jharkhand Government

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर