दहेज की मांग पूरी नहीं हुई तो 'मौलाना ऑफ वासेपुर' ने पूरे मोहल्ले के सामने दिया तीन तलाक

दहेज की मांग पूरी न होने पर पत्नी को दिया तीन तलाक (सांकेतिक तस्वीर)
दहेज की मांग पूरी न होने पर पत्नी को दिया तीन तलाक (सांकेतिक तस्वीर)

धनबाद में एक मौलाना ने दहेज के चलते पत्नी को पूरे मुहल्ले के सामने तीन तलाक दे दिया. पीड़िता का आरोप है कि उसका पति और ससुराल वाले काफी समय से उसे दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे थे

  • Share this:
धनबाद. देश में तीन तलाक (Triple talaq पर कानून बनने के बाद भी तीन तलाक के मामले रूकने का नाम नहीं ले रहे है. ताजा मामला धनबाद (Dhanbad) के बैंक मोड़ थाना क्षेत्र के वासेपुर(Wasseypur) का है, जहां एक मौलाना ने अपनी पत्नी को तीन तलाक दे दिया है. बता दें कि वासेपुर के मारूफगंज के 24 वर्षीय मंसूर अंसारी ने अपनी 22 वर्षीय पत्नी आरजू परवीन उर्फ सवीना नाज को सोमवार को पूरे मुहल्ले के सामने तीन तलाक दे दिया.

पति ने की थी कार और 2 लाख रुपये की मांग

जानकारी के मुताबिक आरजू परवीन नवादा के रजौली तकिया मुहल्ला की रहने वाली है. आरजू की निकाह मौलाना मंसूर अंसारी से 27 जून 2019 को मुस्लिम रीति रिवाज के साथ बड़े ही धूम-धाम से हुआ था, जिसमे लड़की के घर वाले अपनी हैसियत के हिसाब से काफी दहेज (Dowry) भी दिया था, लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही आरजू का पति और उसके ससुरालवाले उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे. पीड़िता के मुताबिक उसके ससुराली और पति ने उससे एक कार और  2 लाख रुपये की मांग की थी. दहेज की रकम नहीं देने पर पति ने बचने के लिए धनबाद कोर्ट (dhanbad court) में पत्नी के परिवार वालों पर उसकी विदाई नहीं करने का केस दर्ज करा दिया.



पीड़ित परिवार ने मामले को लेकर प्रशासन से मांगी मदद की गुहार
पीड़ित परिवार ने मामले को लेकर प्रशासन से मांगी मदद की गुहार

पति जान से मारने की देता था धमकी 

पीड़िता के मुताबिक उसका पति लगातार उसके साथ मारपीट करता था. साथ ही जान से मारने की भी धमकी देता था, जिसके बाद पीड़िता के परिवार सदमे में है. बता दें कि पीड़िता के परिवार वाले उसे 26 सितंबर से अपने साथ धनबाद रखे हुए हैं. वहीं पीड़िता के परिजनों ने भी उसके पति को काफी समझाया, लेकिन सोमवार को उसके पति ने मुहल्ले में आरजू को सबके सामने तीन तलाक दे दिया. समाजसेवी जूली खान ने इस मामले को लेकर मीडिया के समक्ष आई और तीन तलाक के कानून पर सवाल उठाते हुए न्याय की गुहार लगाई है. जूली ने कहा कि तीन तलाक कानून बनने के बाद भी लोगों मे कानून का खौफ नहीं है, इसलिए जिला प्रशासन ऐसे लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करे, ताकी तीन तलाक पर अंकुश लग सके.

यह भी पढ़ें-  3 महीने के बाद एक अक्टूबर से खुलेगा बेतला नेशनल पार्क, पहुंचने लगे पर्यटक

यह भी पढ़ें- 65 वर्षीय दासी कर्मकार PM मोदी से मिलने दिल्ली हुई रवाना, पेट में था 40 किलो का ट्यूमर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज