बच्चा चोरी की अफवाह में ग्रामीणों ने एक शख़्स को पीटा, बचाने के लिए आई पुलिस पर भी किया पथराव

शख्स को गांव में रुकना पड़ा महंगा, ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझकर कर दी पिटाई
शख्स को गांव में रुकना पड़ा महंगा, ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझकर कर दी पिटाई

कोयलांचल में बच्चा चोरी की अफवाह इतनी ज्यादा है कि लोगों किसी भी अपरिचित शख्स को भी बच्चा चोर समझ रहे है. धनबाद के मोहलबना गांव में भी ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझ कर एक व्यक्ति की पिटाई कर दी. व्यक्ति को बचाने गई पुलिस पर भी ग्रामीणों ने पथराव कर दिया.

  • Share this:
धनबाद. मॉब लिंचिंग (Mob lynching) की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. ताजा घटना धनबाद (Dhanbad) के निरसा की है. मंगलवार को देर रात निरसा के मैथन थाना क्षेत्र में लोगों ने बच्चा चोरी (Child theft) के शक में एक व्यक्ति की जमकर पिटाई कर दी. ये व्यक्ति चारापीठ से दर्शन कर के वापस आ रहा था. इसी दौरान उसे एक फोन कॉल आया और वह मोहलबना गांव में रुक गया. इलाके में बच्चा चोरी की अफवाह (Rumor) इतनी ज्यादा है कि स्थानीय लोगों ने इस अपरिचित शख्स को बच्चा चोर समझ लिया और उसकी पिटाई शुरु कर दी.

ग्रामीणों ने कर दिया पुलिस पर भी हमला

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. हालात इतने भयावह थे कि मॉब लिंचिंग के शिकार व्यक्ति को बचाने गई पुलिस पर भी ग्रामीणों ने पथराव कर दिया. आत्मरक्षा में पुलिस को तीन-चार राउंड हवाई फायरिंग करना पड़ा. पथराव में एसडीपीओ के सुरक्षाकर्मी समेत करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए. ग्रामीणों द्वारा किए गए पथराव में पुलिस वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए. घायल पुलिसकर्मियों का स्थानीय अस्पताल में ईलाज चल रहा है.




पहले भी बेकाबू भीड़ ले चुकी है एक व्यक्ति की जान

धनबाद में बच्चा चोरी की अफ़वाह में पहले भी बेकाबू भीड़ हिंसा की वारदात को अंजाम दे चुकी है. हाल ही में एक व्यक्ति प्रथम सिंह की मॉब लिंचिंग में जान तक चली गई थी. घटना को लेकर निरसा विधायक अरूप चटर्जी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया. अरूप चटर्जी ने घटना की निंदा करते हुए ऐसी घटनाओं को निराशाजनक बताया. विधायक ने पुलिस से भी आम लोगों को जागरूक करने की अपील की, जिससे उनका पुलिस के प्रति विश्वास बढ़े. पुलिस की भी लोगों से अपील है कि अगर कोई व्यक्ति संदिग्ध लगता है तो इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दें और किसी भी तरह की अफवाह पर ध्यान न दें.

बच्चा चोर, अफवाह, मॉब लिंचिंग, पुलिस टीम पर हमला, पथराव, Child thief, rumor, mob lynching, attack on police team, stone pelting
घटना की गंभीरता को देखते हुए निरसा विधायक अरूप चटर्जी मौके पर पहुँचे


ये भी पढ़ें- यहां रोगों से बचने के लिए खाई जाती है लाल चींटी की चटनी

ये भी पढ़ें- जल शक्ति अभियान में झारखंड का धनबाद बना देश में नंबर वन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज