पुलिस ने दी थी क्लीन चीट, कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई

Abhishek Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 7:21 PM IST
पुलिस ने दी थी क्लीन चीट, कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई
मो. जावेद अधिवक्ता अभियोजन पक्ष
Abhishek Kumar
Abhishek Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 7:21 PM IST
झारखंड में धनबाद के बहुचर्चित LLB छात्र जयंत गोप हत्या कांड मामले में धनबाद सिविल कोर्ट ने आज गुरुवार को तीन अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई. इसी हत्याकांड मामले में 8 आरोपियों को पहले ही आजीवन कारावास की सजा हो चुकी है. ये तीन आरोपी जिन्हें आज सजा हुई है वे थे जिन्हें पुलिस ने जांच में क्लीन चीट तक दे दी थी. बाद में पीड़ित पक्ष ने सुप्रीम कोर्ट में अपील कर कोर्ट में केस लड़ा. पीड़ित पक्ष ने केस जीता और तब जाकर तीनों आरोपी कानून के हत्थे चढ़े और आज उन्हें कोर्ट ने सजा दे दी.

बता दें कि यह घटना 1 फरवरी 2009 की है जब सरस्वती पूजा पंडाल में धनबाद लॉ कॉलेज के छात्र जयंत गोप की दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी. इस हत्या मामले में कुल 12 लोगों को आरोपी बनाया गया था. घटना झरिया थाना क्षेत्र के मानबाग की थी. उसी मामले में आज ब्रजेन्द्र यादव, दिलीप यादव और अर्जुन यादव को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई.

अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता मोहम्मद जावेद ने कहा कि जिन तीन लोगों को आज सजा सुनाई गई है उनके नाम पुलिस ने यह दलिल देते हुए हटा दिया था कि घटना के समय वे जिला से बाहर थे. मगर इसके विरूद्ध पीड़ित पक्ष ने कोर्ट में याचिका दायर की. कोर्ट ने इसका संज्ञान लिया. अभियुक्तों ने कोर्ट के उस संज्ञान के विरोध में सुप्रीम कोर्ट में अपील की. मगर सुप्रीम कोर्ट ने उनकी अपील को खारिज कर दिया. फिर मुकदमे की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पाया कि एकमत होकर जयंत गोप की हत्या की गई थी. उसी केस में आज इन तीनों को कोर्ट ने दोषी करार दिया और आजीवन कारावास की सजा सुना दी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर