अपना शहर चुनें

States

होमगार्ड की पुलिस के जवानों ने की पिटाई, कंपनी कमांडर ने लिया मामले को गंभीरता से

घायल होमगार्ड का अस्पताल में हालचाल जानते अधिकारी
घायल होमगार्ड का अस्पताल में हालचाल जानते अधिकारी

धनबाद में एक होमगार्ड की पिटाई का मामला सामने आया है और पिटाई का आरोप भी बैंक मोड़ थाना के 3 टाइगर जवानों पर लगा है. घायल होमगार्ड जवान विजय शंकर साह का धनबाद पीएमसीएच में फिलहाल इलाज चल रहा है.

  • Share this:
धनबाद में एक होमगार्ड की पिटाई का मामला सामने आया है और पिटाई का आरोप भी बैंक मोड़ थाना के 3 टाइगर जवानों पर लगा है. घायल होमगार्ड जवान विजय शंकर साह का धनबाद पीएमसीएच में फिलहाल इलाज चल रहा है.इस जवान की एक पैर टूट गया है और साथ ही गंभीर चोंटे आई हैं. घायल होमगार्ड जवान विजय शंकर साह से मिलने आज होमगार्ड कंपनी कमांडर समेत कई अधिकारी अस्पताल पहुंचे.घायल जवान का आरोप है कि पिछले 7 जुलाई को वह सिटी सेंटर से ड्यूटी कर रात को गांधीनगर अपने घर के लिए लौट रहा था इसी दौरान पुराना बाजार काली मंदिर के पास दो पक्ष आपस में लड़ाई झगड़ा कर रहे थे. इनके बीच बचाव के लिए वह वहां पहुंचा था उसी समय टाइगर के तीन जवान वहां पहुंचे और उन्होंने होमगार्ड जवान की जमकर पिटाई कर दी.

इस दौरान पहले से लड़ रहे लोग पुलिस को देख कर भाग गए. विजय शंकर ने आरोप लगाया कि यह बताने के बावजूद भी उनकी पिटाई की वह होमगार्ड का जवान है. टाइगर जवानों ने उसे बुरी तरह पिटाई की और फिर उन लोगों ने ही पीएमसीएच में ले जाकर उसे भर्ती करवाया.होमगार्ड जवान विजय शंकर साह ने आरोप लगाया की पूरे मामले को लेकर सरायढेला थाने में लिखित शिकायत दी गई है. जिला पुलिस के टाइगर जवानों पर अब तक एफआईआर दर्ज नहीं किया है क्यूंकि आरोपी पुलिस के जवान हैं. घायल जवान का कहना है कि अब केस मैनेज करने के लिए धमकी भी दी जा रही है.वहीं होमगार्ड कंपनी कमांडर कैलाश कुमार राम ने पूरे मामले को गंभीर बताते हुए वरीय अधिकारी से शिकायत करने के बात कही है. उधर पूरे मामले को होमगार्ड एसोसिएशन ने गंभीरता से लिया है.

होमगार्ड वेलफ़ेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष रवि मुखर्जी ने कहां की अगर जल्द रिपोर्ट दर्ज नहीं की जाती है तो होमगार्ड एसोसिएशन धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होगा. रवि मुखर्जी ने आरोपी जवानों पर धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है. इस मामल में धनबाद एसएसपी मनोज रतन चौथे कहा की उनके पास फिलहाल किसी प्रकार की शिकायत नहीं आई है. अगर शिकायत आएगी तो डीएसपी स्तर अधिकारी से पूरे मामले की जांच कराई जाएगी और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज