होम /न्यूज /झारखंड /सट्टे के पैसे के लिए छात्रों ने उठाया खौफनाक कदम, पहले साथी को अगवा किया फिर मार डाला

सट्टे के पैसे के लिए छात्रों ने उठाया खौफनाक कदम, पहले साथी को अगवा किया फिर मार डाला

मृतक 8वीं क्लास का छात्र था.

मृतक 8वीं क्लास का छात्र था.

Dhanbad News: पिता विंध्याचल यादव के मुताबिक आईपीएल साट्टेबाजी में हर्षित की हत्या की गई है. बलवंत से हर्षित ने 40 हजार ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- संजय गुप्ता

धनबाद. झारखंड के धनबाद में महुदा रेलवे कॉलनी के रहने वाले रेलवे ठेकेदार विंध्याचल यादव के 14 साल के बेटे हर्षित कुमार यादव की अपहरण के बाद गला दबाकर हत्या कर दी गई. हर्षित का शव बाघमारा के जमुनिया कोलियरी के ओबी डंप में पत्थर से दबा बरामद किया गया. पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार दोनों आरोपी नाबालिग हैं. आईपीएल सट्टेबाजी में हर्षित की हत्या की जाने की बात सामने आई है.

14 साल का हर्षित डीएवी महुदा 8वीं क्लास का छात्र था. 21 सितंबर को सुबह 8.45 बजे वह घर से निकला था. हर्षित के पिता विंध्याचल यादव के मुताबिक उसके साथी बलवंत प्रसाद और नीतीश प्रसाद अपनी बाइक लेकर उसे निकले थे. घर से निकलने के बाद वह वापस नहीं लौटा.

शुक्रवार को महुदा थाना में हर्षित की अपहरण की शिकायत परिजनों ने दर्ज कराई. शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने महज 6 घंटे में ही मामले के उद्भेदन का दावा किया. शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने अनुसंधान शुरू कर दी. अनुसंधान में नीतीश पुलिस के हाथ लगा. उसने पूछताछ में हर्षित के शव के बारे में जानकारी दी. जिसके बाद पुलिस ने बाघमारा के जमुनिया कोलियरी में पत्थरों के बीच से हर्षित के शव को बरामद किया है.

शव को देखकर प्रतीत होता था कि उसकी गमछे से गला दबाकर हत्या की गई. पिता विंध्याचल यादव के मुताबिक आईपीएल साट्टेबाजी में हर्षित की हत्या की गई है. बलवंत से हर्षित ने 40 हजार रुपए लिए थे. पैसे वापस करने के लिए बलवंत हर्षित के ऊपर दबाव बना रहा था. पिता के मुताबिक पैसे के लिए ही हर्षित की हत्या की गई.

बलवंत महुदा डीएवी में ही पढ़ाई करता था. उसके आचरण को देखते हुए उसे स्कूल से निष्कासित कर दिया गया. वर्तमान में वह सिनीडीह के एक निजी स्कूल में 10वीं क्लास में पढ़ता है. बलवंत बाघमारा के मंझला टोला का रहने वाला है, जबकि नीतीश सोनारडीह का रहने वाला है.

Tags: Dhanbad news, Jharkhand news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें