झारखंड में बागी कांग्रेस नेता पार्टी के लिए बन सकते हैं मुसीबत का सबब

कीर्ति आजाद के नाम की घोषणा से एक घंटे पहले तक बताया गया था कि उन्हें ही टिकट मिलेगा. ददई दुबे के अनुसार उनके अलावा कांग्रेस के कई कद्दावर नेताओं को इस चुनाव से दरकिनार कर दिया गया है. जिसका खामियाजा कांग्रेस को भुगतना पड़ सकता है.

  • Share this:
पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता ददई दुबे का धनबाद से टिकट कटने के बाद उनका दर्द छलक गया. इस दौरान उनके बगावती सुर भी दिखने लगे हैं. उन्होंने कहा कि कीर्ति आजाद के नाम की घोषणा से एक घंटे पहले तक बताया गया था कि उन्हें ही टिकट मिलेगा. ददई दुबे के अनुसार उनके अलावा कांग्रेस के कई कद्दावर नेताओं को इस चुनाव से दरकिनार कर दिया गया है. जिसका खामियाजा कांग्रेस को भुगतना पड़ सकता है.

ददई दुबे की माने तो उनके और झारखंड के कई कद्दावर नेताओं के साथ धोखा हुआ है. उन्होंने कहा कि झारखण्ड में जितने भी कांग्रेस के कद्दावर नेता थे, उनमें से एक को भी टिकट नहीं दिया गया. उन्होंने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि सिर्फ उनका ही टिकट नहीं कटा, बल्कि इस लिस्ट में रामेश्वर उरांव और प्रदीप बलमुचू भी शामिल हैं.

ददई दुबे ने धनबाद से कांग्रेस प्रत्याशी कीर्ति झा आजाद पर निशाना साधते हुए कहा कि वो बिहार के हैं और भाजपाई थे. एक महीना पहले वो पार्टी में आए हैं. ऐसे में उनको पार्टी ने टिकट दे दिया. जिससे धनबाद की जनता और कार्यकर्ताओं में खासी नाराजगी है. जिसे मैं रोक नहीं सकता है और ये भी जानता हूं कि इसका ठिकरा भी मेरे सिर पर ही फूटेगा.



ये भी पढ़ेंः- झारखंड की इन तीन सीटों के लिए मुस्लिम वोटरों को रिझाने में जुटी बीजेपी
कांग्रेसी नेताओं ने टिकट नहीं मिलने के बाद प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. धनबाद और हज़ारीबाग में प्रदेश अध्यक्ष के सामने ही कार्यकर्ता आपस में उलझ गए थे. प्रदीप बालमुचू, रामेश्वर उरांव, ददई दुबे, आलमगिर आलम की नाराजगी साफ झलक रही है. ऐसे में धनबाद और हजारीबाग में जीत की राहें कांग्रेस के लिए मुश्किल हो सकती है.

(रामगढ़ से जयंत की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें- झारखंड की इन तीन सीटों के लिए मुस्लिम वोटरों को रिझाने में जुटी बीजेपी

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज