धनबाद: पास में झील, फिर भी 2 साल से पानी की बाट जोह रहा 36 लाख का शौचालय

सत्तापक्ष के विधायक मथुरा महतो का कहना है कि अभी सरकार विकासकार्यों के बदले कोरोना टीकाकरण पर ध्यान दे रही है.

Dhanbad News: झील पानी से लबालब है, लेकिन इसके किनारे 36 लाख की लागत से बना शौचालय पानी के लिए दो साल से तरस रहा है. इसके चलते शौचालय बंद पड़ा हुआ है.

  • Share this:
    रिपोर्ट- संजय गुप्ता

    धनबाद. झारखंड के धनबाद में चिराग तले अंधेरा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है. झील पानी से लबालब है, लेकिन इसके किनारे 36 लाख की लागत से बना शौचालय पानी के लिए दो साल से तरस रहा है. इसके चलते शौचालय बंद पड़ा हुआ है. धनबाद के तोपचाची वाटर बोर्ड परिसर में विशेष प्रमंडल विभाग के द्वारा इस शौचालय का निर्माण करवाया गया. लेकिन दो साल बाद भी इसका उद्घाटन नहीं हो पाया है, क्योंकि पानी का कनेक्शन नहीं है.

    तोपचाची वाटर बोर्ड परिसर में विशेष प्रमंडल विभाग के द्वारा 36 लाख की लागत से शौचालय का निर्माण करवाया गया. इसके लिए दो भवन बनाये गए. बड़े-बड़े वाटर टैंक भवन की छत पर लगवाये गये. लेकिन इन टैंकों को कभी पानी नसीब नहीं हुई. पानी का कनेक्शन नहीं होने के कारण शौचालय को चालू नहीं किया जा सका है.

    राष्ट्रीय राजमार्ग-2 के किनारे स्थित वाटर बोर्ड में सैलानियों की भीड़ सालोंभर लगी रहती है. झील के चारों ओर पहाड़ यहां का आकर्षण का मुख्य केंद्र है. अंग्रेजों के समय में ही इस झील को बनाया गया था. सैलानियों को होने वाले परेशानी को देखते हुए स्वच्छ भारत अभियान के तहत यहां शौचालय का निर्माण करवाया गया. लेकिन पानी के इंतजार में शौचालय को चालू नहीं किया गया है. हालांकि अब धीरे-धीरे शौचालय भवन टूटने भी लगा है.

    परिसर में दुकान चलाने वालों का कहना है कि वाटर बोर्ड में घुमने के लिए एंट्री फीस तो ली जाती है, पर सैलैनियों को सुविधा के नाम पर कुछ नहीं दिया जाता है. यहां तक की शौचालय भी नहीं चालू किया गया है.

    स्थानीय दुमदुमि पंचायत के मुखिया सह राज्य मुखिया संघ अध्यक्ष मुकेश महतो ने बताया कि इस वाटर बोर्ड की सबसे बड़ी खासियत यह है कि बिना किसी मोटर के सुदूर क्षेत्र तक यहां से पानी पहुंचाया जाता है. लेकिन पास में बने शौचालय को पानी देने के लिए दो साल लग गये, फिर भी काम नहीं हो पाया है.

    टुंडी के जेएमएम विधायक मथुरा महतो का कहना है कि अभी विकास योजनाओं से ज्यादा कोरोना का टीकाकरण जरूरी है. सरकार और प्रशासन इसको सफल बनाने में जुटे हुए हैं. वैसे भी अभी कोई पर्यटक यहां घुमने नहीं आ रहे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.