• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • Dhanbad Judge Murder: दो आरोपियों को 5 दिन की पुलिस रिमांड, शक की सुई अपहरण गैंग की तरफ

Dhanbad Judge Murder: दो आरोपियों को 5 दिन की पुलिस रिमांड, शक की सुई अपहरण गैंग की तरफ

धनबाद जज हत्याकांड मामले में दो आरोपियों को रिमांंड पर भेजा गया.

धनबाद जज हत्याकांड मामले में दो आरोपियों को रिमांंड पर भेजा गया.

Jharkhand Judge Murder Case : धनबाद के ज़िला जज उत्तम आनंद की मौत बुधवार को मॉर्निंग वॉक के दौरान एक ऑटो की टक्कर से हुई थी. इस मामले में शक की सुई उस गिरोह (Gang) की तरफ घूम रही है, जिसका केस जज आनंद की अदालत में था.

  • Share this:

    रिपोर्ट – संजय गुप्ता

    धनबाद. धनबाद ज़िला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनन्द की मौत के मामले में बड़ी खबर आई है. गिरफ्तार किए गए दो अभियुक्तों लखन कुमार वर्मा एवं राहुल कुमार वर्मा को गुरुवार देर रात सीजीएम (CJM) के सामने किया गया. सीजीएम आवास में दो अभियुक्तों को पुलिस पेशी करवाने देर रात लेकर पहुंची और वहां दोनों आरोपियों को पांच दिन की रिमांड पर सौंप दिया गया.

    इससे पहले दोनों अभियुक्त जज हत्याकांड में गुरुवार को गिरफ्तार किए गए थे. साथ ही गिरिडीह ज़िले में वह ऑटो भी बरामद किया गया था, जिससे जज आनंद को टक्कर मारी गई थी. इस केस में अब तक हत्या की वजह नहीं खुली है, लेकिन शक की सुई एक शूटर के गैंग की ओर मुड़ी है.

    गिरफ्तारी में लगा 24 घंटे से ज्यादा वक्त
    इसस हत्याकांड में धनबाद पुलिस को ऑटो चालक सहित दो अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के 24 घण्टे से अधिक समय लगा. एसएसपी संजीव कुमार ने प्रेसवार्ता में यह तो बताया था कि गिरिडीह से गिरफ्तारी व बरामदगी हुई, लेकिन कई सवालों का जवाब नहीं दिया गया. अब बड़ी खबर यह है कि गुरुवार रात लगभग 11 बजे गिरफ्तार अभियुक्तों लखन वर्मा, राहुल वर्मा को सीजीएम के सामने पुलिस ने पेश किया था. पुलिस ने सीजीएम से पांच दिन का रिमांड मांगा था, जिसे सीजीएम ने स्वीकार किया.

    ये भी पढ़ें : झारखंड के वकील आज नहीं करेंगे काम, पुलिस मार रही छापे, जज हत्याकांड की 10 बड़ी बातें

    कैसे सुर्खियों में आया जज हत्याकांड?
    बता दें कि धनबाद जज मौत मामले को लेकर देश के सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट ने खुद संज्ञान लिया. ज़िला व सेशन जज की मौत के मामले में जो सीसीटीवी फुटेज सामने आया, उसमें जानबूझकर टक्कर मारने की तस्वीरें दिखने के बाद इस केस में करंट दौड़ गया. धनबाद एसएसपी को हाई कोर्ट के सामने पेश भी होना पड़ा. धनबाद वरीय पुलिस अफसरों के अलावा, डीआईजी, डीजीपी को भी कोर्ट ने तलब किया. यह घटना हादसा है या हत्या, इस बारे में गहराई से पड़ताल की जा रही है.

    ये भी पढ़ें : Dhanbad Judge Murder : रांची की फॉरेंसिक टीम ने लिये फिंगरप्रिंट, पोस्टमार्टम में मिले चोट के निशान

    शक की सुई अमन सिंह गैंग की तरफ!
    रंजय हत्याकांड में सुनवाई कर रहे जज उत्तम आनंद ने बीते दिनों आरोपी अमन सिंह की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. गौरतलब है कि अमन सिंह पर रंजय सिंह की हत्या का आरोप है. अमन सिंह फिलवक्त झारखंड व बिहार में अपहरण और फिरौती का पर्याय माना जाता है. अमन सिंह की जमानत याचिका खारिज होने के चंद दिनों बाद हुई इस घटना से शक की सुई अमन सिंह गैंग की ओर मुड़ गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज