Home /News /jharkhand /

धनबाद: 48 साल से मुआवजे का इंतजार कर रहे ग्रामीण, कोर्ट के आदेश को भी BCCL ने दिखाया ठेंगा!

धनबाद: 48 साल से मुआवजे का इंतजार कर रहे ग्रामीण, कोर्ट के आदेश को भी BCCL ने दिखाया ठेंगा!

निर्दलीय विधायक सरयू राय ने इलाके का दौरा कर स्थानीय लोगों की पीड़ा को देखा.

निर्दलीय विधायक सरयू राय ने इलाके का दौरा कर स्थानीय लोगों की पीड़ा को देखा.

Dhanbad News: स्थानीय निवासियों का कहना है कि वे लोग कहां जाएं. पुश्तैनी जमीन है. अगर बीसीसीएल उनलोगों को मुआवजा और नियोजन देती तो वे लोग खुद चले जाते. यहां दिन-रात गैस रिसाव होता रहता है. घर-आंगन तक में धुआं रहता है.

    रिपोर्ट- संजय गुप्ता

    धनबाद. धनबाद के बीसीसीएल ब्लॉक-दो क्षेत्र में पड़ने वाले जयरामडीह राय टोला के रैयत मौत के मुहाने पर रहने को मजबूर हैं. साल 1972 से यहां के रैयत जमीन के बदले मुआवजे और नियोजन की मांग को लेकर बीसीसीएल से संघर्ष कर रहे हैं. बीसीसीएल प्रबंधन द्वारा जमीन खाली कराने को लेकर न्यायालय में मामला रैयतों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया. लेकिन न्यायालय ने रैयतों के पक्ष में फैसला सुनाते हुए कंपनी को जल्द से जल्द मुआवजा और नियोजन देने का आदेश दिया. लेकिन कोर्ट के आदेश के बावजूद यहां ग्रामीण को कुछ नहीं मिला.

    बीसीसीएल रैयतों की जमीन पर कोयला उत्खनन और ओबी का काम जबरन कर रही है. बीसीसीएल प्रबंधन की उदासीनता के कारण यहां रह रहे 40 से 50 परिवारों की जिंदगी नर्क हो चुकी है. गांव के अगल बगल में बीसीसीएल के प्रोजेक्ट और आउटसोर्सिंग कम्पनियां काम कर रही हैं. रात-दिन कोयला खनन से लेकर ढुलाई का काम होता है. बीसीसीएल ने ओबी को जमा करते-करते पहाड़ बना दिया गया है.

    गांव के चारों तरफ भू-धंसान क्षेत्र बन गया है. आये दिन यहां भू-धंसान होता रहता है. जिस स्थान पर ग्रामीण रह रहे उससे कुछ ही कदम की दूरी पर भू-धंसान, गैस रिसाव 24 घंटे होता रहता है. यहां तक कि घर के आंगन, कमरे, बाथरूम सभी जगह गैस रिसाव होता है. जमीन इतनी गर्म रहती है कि कोई खाली पैर खड़ा तक नहीं हो सकता. बारिश के समय धुएं का धुंध बना रहता है.

    ग्रामीणों ने इस समस्या को लेकर जमेशदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय से गुहार लगाकर जल्द नियोजन और मुआवजा दिलाने की गुहार लगाई. विधायक क्षेत्र का दौरा कर चारों ओर गैस रिसाव तथा भू-धंसान, गन्दगी को देखकर आश्चर्य व्यक्त किया.

    स्थानीय निवासियों का कहना है कि वे लोग कहां जाएं. पुश्तैनी जमीन है. अगर बीसीसीएल उनलोगों को मुआवजा और नियोजन देती तो वे लोग खुद चले जाते. यहां दिन-रात गैस रिसाव होता रहता है. घर-आंगन तक में धुआं रहता है. दुर्गंध ऐसा कि रहना दुस्वार हो जाए.

    विधायक सरयू राय ने कहा कि यहां रहने वाले लोग मौत के मुहाने पर हैं. स्थिति बहुत गम्भीर है. कोर्ट में ग्रामीणों के पक्ष में फैसला आने पर भी मुआवजा नही देना आश्चर्य का विषय है. बीसीसीएल के बड़े अधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री तक से ग्रामीणों की समस्या को लेकर बात करेंगे. ग्रामीणों को उनका अधिकार जरूर मिलना चाहिए.

    Tags: Dhanbad news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर