अपना शहर चुनें

States

मैथन और पंचेत डैम में खतरे के निशान के पास पहुंचा जलस्तर, खोले गये कई गेट

मैथन और पंचेत डैम से पानी छोड़े जाने के बाद जामताड़ा और पश्चिम बंगाल के निचले इलाके में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है.
मैथन और पंचेत डैम से पानी छोड़े जाने के बाद जामताड़ा और पश्चिम बंगाल के निचले इलाके में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है.

धनबाद के मैथन डैम का जलस्तर 490 एवं पंचेत डैम का जलस्तर 419 फीट तक पहुंच गया है. यही कारण है कि मैथन डैम से 45000 क्यूसेक, जबकि पंचेत से 20000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है.

  • Share this:
धनबाद. कोयलांचल में लगातार हो रही बारिश (Rain) के कारण बाढ़ का अलर्ट (Flood Alert) जारी किया गया है. जामताड़ा के ऊपरी भाग और पश्चिम बंगाल के निचले हिस्से में बाढ़ की चेतावनी दी गई है. इस बीच बढ़ते जलस्तर को देखते हुए मैथन (Maithan Dam) और पंचेत डैम (Panchet Dam) के गेटों को खोल दिया गया है. मैथन डैम से 45000 क्यूसेक और पंचेत डैम से 20000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है. प्रति घंटा मैथन डैम में 95000 और पंचेत डैम में 65000 क्यूसेक पानी बढ़ रहा है. इसलिए डीवीसी और केंद्रीय जल आयोग की टीम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं.

बाढ़ का खतरा 

मैथन और पंचेत डैम के जल अधिग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश के कारण निचले इलाके में बाढ़ का खतरा पैदा हुआ है. धनबाद के मैथन डैम का जलस्तर 490 एवं पंचेत डैम का जलस्तर 419 फीट तक पहुंच गया है. यही कारण है कि मैथन डैम से 45000 क्यूसेक, जबकि पंचेत से 20000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है. दोनों डैम से पानी छोड़े जाने के कारण पश्चिम बंगाल के निचले इलाके एवं जामताड़ा के ऊपरी भाग में बाढ़ का अलर्ट जारी किया गया है. मैथन डैम में खतरे का निशान 495, जबकि पंचेत डैम में खतरे का निशान 425 फीट है. इसलिए अभी तक कहीं से कोई नुकसान खबर नहीं है.



गिरिडीह-कोडरमा में दो की मौत 
इस बीच बारिश की स्थिति को देखते हुए धनबाद प्रशासन ने सभी स्कूलों को बंद रखने का आदेश जारी कर दिया. सोमवार को कक्षा 8 तक पढ़ाई नहीं हुई. उधर गिरिडीह के सरिया थाना क्षेत्र के बिरहोरटंडा में इतवारी बिरहोर की नदी की तेज धारा में बहने से मौत हो गई है. इतवारी धान की फसल देखने खेत जा रहा था. कोडरमा के जयनगर थानाक्षेत्र के कटहाडीह पुल के समीप जानवर चरा रहे युवक शाहनवाज खान अकतो नदी में बह गया. काफी खोजबीन के बाद भी उसका पता नहीं चला. इधर रांची में पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण कांके और धुर्वा डैम में जलस्तर काफी बढ़ गया है. हालत यह है कि कांके डैम में यदि 6 फीट पानी और बढ़ता है, तो यह खतरे के निशान को पार कर जाएगा.

रिपोर्ट- अभिषेक कुमार व भुवन किशोर

ये भी पढ़ें- भारी बारिश के चलते सीएम रघुवर दास की कोल्हान में जन आशीर्वाद यात्रा रद्द

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज