Home /News /jharkhand /

Web Series Aashram की तरह यहां पहले लड़कियों को किया जाता था कैद, फिर 'बाबा' करता था यौन शोषण!

Web Series Aashram की तरह यहां पहले लड़कियों को किया जाता था कैद, फिर 'बाबा' करता था यौन शोषण!

Jharkhand News: दिल्ली के रोहिणी स्थित इसी मकान में लड़कियों को कैद करके रखा जाता था.

Jharkhand News: दिल्ली के रोहिणी स्थित इसी मकान में लड़कियों को कैद करके रखा जाता था.

Sexual Abuse: बॉलीवुड की वेब सीरीज आश्रम की पूरी कहानी रियल लाइफ में भी देखने को मिली है. वेब सीरीज आश्रम की कहानी जैसा ही मामला दिल्ली और धनबाद से सामने आया है, जहां आध्यात्मिक ज्ञान और बाबा के नाम पर लड़कियों के शोषण किए जाने की खबर है. इस रियल कहानी को जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- संजय गुप्ता 
नई दिल्ली/धनबाद. बॉलीवुड की वेबसीरीज आश्रम (Web Series Ashram) की पूरी कहानी रियल लाइफ में भी देखने को मिली है. वेब सीरीज आश्रम की कहानी जैसा ही मामला दिल्ली और धनबाद से सामने आया है, जहां आध्यात्मिक ज्ञान और बाबा के नाम पर लड़कियों के शोषण किए जाने की खबर है. दरअसल इन दिनों झारखंड के धनबाद (Dhanbad News) जिले से धर्म अध्यात्म के नाम पर गांव की लड़कियों के अपहरण के कई मामले देखने को मिले हैं. इन मामलों में किसी संस्था के केंद्र में लड़कियों को बंधक बनाकर रखा जा रहा है. धनबाद जिले के तोपचाची थाना क्षेत्र से ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है, जहां 23 वर्षीय एक युवती को झारखंड से दिल्ली अपहरण कर ले जाया गया. अब दिल्ली में बंधक बनाकर रख लिया गया है. युवती से मिलने गये उनके परिजनों को बात तक नहीं करने दिया गया. अपनी बेटी की इस हालत को देखने के बाद युवती के परिजन अपने घर तोपचाची लौट अब पुलिस से बेटी को बचाने की गुहार लगा रहे हैं.

बताया जाता है कि तोपचांची थाना‌ क्षेत्र के खेशमी गांव निवासी नारायण महतो की 23 वर्षीय पुत्री किरण कुमारी को रतनपुर निवासी राजकुमार महतो और उसकी पत्नी सावित्री देवी ने टीकाकरण के नाम पर बहला फुसलाकर बीते 27 दिसंबर को कहीं लेकर चले गए. शाम तक उनकी लाडली बेटी घर नहीं पहुंची तो परिवार वाले ने खोजबीन शुरू कर दी, लेकिन कहीं कुछ पता नहीं चला. ग्रामीणों ने जब कड़ाई से राजकुमार महतो से पूछताछ की तो उसने बताया कि उनकी लाडली बेटी आध्यात्मिक हो गई है और दिल्ली मे रह रही है.

लड़कियों को कर रखा था कैद
जानकारी के अनुसार जब युवती के परिजन राजकुमार महतो और उनके पत्नी सावित्री देवी के साथ दिल्ली गए तब वहां अपनी बेटी की स्थिति देखकर परिवार वाले बिलकुल सन्न रह गए. उनकी बेटी को दिल्ली के एक घर में बंधक बनाकर रखा गया था. परिजनों का कहना है कि बेटी को करीब पांच फीट की दूरी से दिखाया गया. उसके हाथ में निशान भी थे. परिजनों ने धनबाद लौटते ही तोपचांची थाने में लिखित शिकायत देकर न्याय की गुहार लगाई है. बताया जा रहा है कि तोपचांची पुलिस प्राप्त आवेदन के आधार पर मामले की जांच मे जुटी हुई है.

झारखंड के मंत्री ने दिए जांच के निर्देश
इस मामले में झारखंड सरकार के मंत्री चम्पई सोरेन ने भी ट्वीट किया है. उन्होंने जिला पुलिस को इस मामले की जांच कर युवती को वापस लाने का निर्देश दिया है. वहीं, इस मामले को लेकर बाघमारा एसडीपीओ निशा मुर्मू ने बताया कि तोपचाची थाने में युवती के अपहरण का मामला दर्ज कराया गया है. युवती को वापस लाने के लिये पुलिस की एक टीम दिल्ली भी रवाना हो गयी है. संस्था के भेंडरा शाखा की भी जांच की जाएगी. मामले में जो भी दोषी होगा कार्रवाई की जाएगी.

रोहिणी में लड़कियों को किया जाता था कैद
बता दें, इस संस्था के प्रमुख का नाम वीरेंद्र दीक्षित है. दिल्ली के रोहिणी स्थित आश्रम में नाबालिग लड़कियों को बंदी बनाकर यौन शोषण करने वाले स्वयंभू बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के नाम पर इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है. दिल्ली पुलिस लंबे समय से इसकी तलाश कर रही है और पुलिस को आशंका है कि 79 वर्षीय बाबा अभी नेपाल में छिपा है. पुलिस ने उसके ऊपर पांच लाख का इनाम भी घोषित किया है. सीबीआई ने अब इस शातिर को पकड़ने के लिए इंटरपोल की मदद ली है.

दिल्ली पुलिस के पास जून 2017 में दो शिकायतें आईं थीं जिनमें बाबा के काले कारनामों का जिक्र था. बाबा ने रोहिणी इलाके में किलानुमा एक आश्रम बना रखा था जहां वह नाबालिग लड़कियों को बंदी बनाकर रखता था. दिल्ली पुलिस ने वीरेंद्र दीक्षित की खबर देने वाले को पांच लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है. पुलिस के अनुसार इसकी जानकारी पुलिस को 011-24368657 पर फोन कर और spstfdel@cbi.gov.in पर ईमेल के जरिये दी जा सकती है. जानकारी देने वाला का नाम गुप्त रखा जाएगा.

Tags: Dhanbad news, Upcoming web series on OTT, Web Series

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर