लाइव टीवी

धनबादः प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने कराई पति की हत्या, फिर पुलिस को ऐसे किया गुमराह

News18 Jharkhand
Updated: January 28, 2020, 1:29 PM IST
धनबादः प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने कराई पति की हत्या, फिर पुलिस को ऐसे किया गुमराह
प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने पति की हत्या करवा दी

पति की नौकरी पाने, पैसे का लालच और प्रेमी के साथ रहने के लिए पत्नी ने BCCL में कार्यरत शंकर सिंह की हत्या करवा दी, मगर पुलिस को नहीं दे पाई झांसा.

  • Share this:
धनबाद. प्रेमी (Lover) के साथ मिलकर पत्नी (Wife) ने पति (Husband) की हत्या (Murder) करवा दी. इसके बाद पुलिस (Police) को गुमराह करने के लिए थाने में पति की गुमशुदगी की झूठी रिपोर्ट दर्ज कराई. लेकिन पुलिस की जांच में सच सामने आ गया. पुलिस ने हत्या के आरोप में पत्नी, प्रेमी और उसके एक साथी को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया. पूरा मामला बरोरा थानाक्षेत्र का है. 26 जनवरी को मुराईडीह कॉलोनी की रहने वाली वादिनी देवी ने पति शंकर सिंह की गुमशुदगी की रिपोर्ट बरोरा थाने में दर्ज कराई थी. 27 जनवरी को पुलिस ने शंकर सिंह का शव बरामद किया था. वह बीसीसीएल (BCCL) में कार्यरत थे.

पुलिस की पूछताछ में उगले राज
ग्रामीण एसपी अमित कुमार रेणु ने बताया कि 26 जनवरी को मुराईडीह कॉलोनी की रहने वाली वादिनी देवी ने अपने पति शंकर सिंह की गुमशुदगी की रिपोर्ट बरोरा थाने में दर्ज कराई थी. मामले की जांच के दौरान 27 जनवरी को पुलिस ने शंकर सिंह का शव बरामद किया था. जांच के क्रम में पुलिस ने साक्ष्य एवं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर इसे हत्या का मामला माना. जांच-पड़ताल में पुलिस को पता चला कि मृतक शंकर सिंह के मोबाइल पर आखिरी बार नंदलाल नामक व्यक्ति से बातचीत हुई थी. इस पर पुलिस ने नंदलाल और मृतक की पत्नी से इस सिलसिले में जब कड़ाई से पूछताछ की, तो सच सामने आ गया.

प्रेमी के साथ रहने के लिए कराई हत्या

एसपी के मुताबिक दोनों आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. पति की नौकरी पाने, पैसे का लालच और प्रेमी के साथ रहने के लिए पत्नी ने शंकर सिंह की हत्या करवा दी. हत्या 25 जनवरी को की गई. रात में शंकर सिंह साइकिल से ड्यूटी के लिए निकले थे. उनके घर से निकलते ही पत्नी वादिनी देवी ने प्रेमी नंदलाल को इसकी जानकारी दी. नंदलाल ने अपने साथी रंजीत महतो और पिंटू चौहान को शंकर सिंह के पीछे लगा दिया. दोनों शंकर सिंह को पकड़कर राजा बांध तालाब ले गए, जहां पहले उनके साथ मारपीट की गई, फिर हत्या कर दी गई. इसके बाद काम पूरा होने की जानकारी नंदलाल को फोन पर दी गई. नंदलाल ने यह बात फोन पर वादिनी देवी को बताई. पुलिस ने इस मामले में वादिनी देवी, प्रेमी नंदलाल महतो और रंजीत महतो को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि एक और आरोपी पिंटू चौहान पुलिस की गिरफ्त से दूर है.

रिपोर्ट- अभिषेक कुमार

ये भी पढ़ें- लोहरदगा हिंसा में घायल नीरज राम प्रजापति की रिम्स में मौत, 16 उपद्रवियों की हुई पहचान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धनबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 1:09 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर