Home /News /jharkhand /

धनबाद: रंग लायी ‘जिंदगी मांगे आरव’ मुहिम, गंभीर बीमारी से पीड़ित मासूम का हुआ सफल ऑपरेशन

धनबाद: रंग लायी ‘जिंदगी मांगे आरव’ मुहिम, गंभीर बीमारी से पीड़ित मासूम का हुआ सफल ऑपरेशन

आरव के धनबाद स्टेशन पहुंचते ही समाजसेवियों ने उसका स्वागत किया.

आरव के धनबाद स्टेशन पहुंचते ही समाजसेवियों ने उसका स्वागत किया.

Jharkhand: धनबाद जिले के बरमसिया निवासी अजय कुमार साव के 4 माह का पुत्र आरव बाईलेरी अट्रेसिया नामक बीमारी से जूझ रहा था, जिसके इलाज के लिए 25 लाख रुपये की आवश्यकता थी. इसका इलाज चैन्नई के ग्लोबल अस्पताल में होना था. लेकिन, अजय कुमार साव के पास इतनी बड़ी रकम नहीं थी, इसलिए समाजसेवी अंकित राजगढ़िया द्वारा ‘जिंदगी मांगे आरव मुहिम’ शुरू की गई थी. इस मुहिम को न्यूज 18 ने भी खबर के तौर पर प्रमुखता से दिखाया था और सभी से इस मुहिम में सहयोग करने की अपील भी की थी.

अधिक पढ़ें ...

    धनबाद. धनबाद (Dhanbad) जिले  के चार माह के मासूम आरव को गंभीर बीमारी से बचाने की मुहिम सफल हुई है. गंभीर बीमारी को मात देकर 4 माह का मासूम आरव धनबाद लौट आया है. दरअसल पिछले कुछ दिनों से आरव को गंभीर बीमारी से बचाने के लिए ‘जिंदगी मांगे आरव’ मुहिम की शुरुआत की गयी थी. लोगों से इस मुहिम (Campaign) में सहयोग करने की अपील की गयी थी, लोगों ने भी बढ़ चढ़कर इस अभियान में हिस्सा लिया और आरव की जिंदगी बचाने में अपनी भागीदारी दिखाई. इस खास मुहिम की शुरुआत करने वाले धनबाद जिले के समाजसेवी अंकित राजगढ़िया और उनके साथियों ने बुधवार को धनबाद स्टेशन पर आरव के पहुंचते ही उसका भव्य स्वागत किया. मिली जानकारी के अनुसार धनबाद जिले के बरमसिया निवासी अजय कुमार साव के 4 माह का पुत्र आरव जो बाईलेरी अट्रेसिया नामक बीमारी से जूझ रहा था, जिसके इलाज के लिए 25 लाख रुपये की आवश्यकता थी. वहीं इसका इलाज चैन्नई (Chennai) के ग्लोबल अस्पताल में होना था. लेकिन, अजय कुमार साव के पास इतनी बड़ी रकम नहीं थी, इसलिए समाजसेवी अंकित राजगढ़िया द्वारा ‘जिंदगी मांगे आरव मुहिम’ शुरू की गई थी. इस मुहिम को न्यूज 18 ने भी खबर के तौर पर प्रमुखता से दिखाया था और सभी से इस मुहिम में सहयोग करने की अपील भी की थी.


    बताया जाता है कि अंकित की मुहिम शुरू करने के बाद इसने रफ्तार पकड़ी और लोगों के सहयोग से 25 लाख जैसी बड़ी राशि जमा हो पायी. इसके बाद चेन्नई के अस्पताल में आरव का इलाज शुरू हो पाया. इलाज के दौरान डॉक्टरों ने आरव की मां रानी देवी के लिवर का 25 फीसदी निकाला और आरव का सफल ऑपरेशन किया. बुधवार को आरव को साथ लेकर मां रानी देवी, पिता अजय साव धनबाद पहुंचे. अपने बेटे के ठीक होने की खुशी पर आरव के माता-पिता ने हाथ जोड़कर समाजसेवी अंकित और धनबाद समेत अन्य शहरों के सभी लोगों को धन्यवाद दिया.


    बता दें, मां-पिता के साथ 4 माह का मासूम आरव जैसे ही धनबाद स्टेशन पहुंचा समाजसेवी अंकित राजगढ़िया, उनके मित्र चतर्भुज कुमार समेत साथियों ने ने आरव और उसके माता-पिता का स्वागत किया. स्टेशन पर आरव और उसकी मां को फूलों की माला पहनायी गयी और तिलक लगाकर आरती भी उतारी गयी. इस दौरान वहां शेखर वर्मा, मुन्ना साव, गुड्डू पासवान, रतन भी मौजूद थे. आरव के माता और पिता ने धनबाद वासियों को दिल से धन्यवाद दिया.

    इस मौके पर आरव के माता और पिता ने कहा कि आरव को दूसरी जिंदगी मिली है. इलाज के लिए 25 लाख रुपये की आवश्यकता थी, जिसको जुटाना उनके लिए संभव नहीं था. लेकिन सभी के सहयोग से यह राशि जमा हो पायी और आरव स्वस्थ्य हो पाया है. उनके बेटे को दूसरी जिंदगी मिली है इसलिए वह सब काफी खुश हैं.

    Tags: Bihar Jharkhand News, Chennai news, Child Care, Dhanbad news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर