दुमका में 6 नक्सलियों ने किया सरेंडर, चार एसपी बलिहार हत्याकांड में थे शामिल

आत्मसमर्पण करने वाले सभी 6 नक्सली जोनल कमांडर ताला दा उर्फ सहदेव राय के दस्ते के सदस्य हैं. इसी साल 13 जनवरी को शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र में पुलिस ने 10 लाख के इनामी नक्सली ताला दा को मुठभेड़ में मार गिराया था.

News18 Jharkhand
Updated: June 17, 2019, 2:53 PM IST
दुमका में 6 नक्सलियों ने किया सरेंडर, चार एसपी बलिहार हत्याकांड में थे शामिल
दुमका में 6 नक्सलियों ने किया सरेंडर
News18 Jharkhand
Updated: June 17, 2019, 2:53 PM IST
दुमका में राज्य सरकार की सरेंडर पॉलिसी से प्रभावित होकर 6 नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. इनमें से तीन महिला नक्सली हैं. सरेंडर करने वालों में दो सब जोनल कमांडर, एक एरिया कमांडर और 3 दस्ता सदस्य हैं. इनमें से चार पर इनाम घोषित है. एसपी सभागार में इस दौरान संताल परगना के डीआईजी राजकुमार लकड़ा, एसएसबी डीआईजी सोमित जोशी, एसपी वाईएस रमेश, डीडीसी वरूण रंजन समेत बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद रहे.

कई और नक्सली पुलिस के संपर्क में

एसपी वाईएस रमेश ने कहा कि सरकार की आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित होकर इनलोगों ने आत्मसमर्पण किया है. कई और नक्सली भी पुलिस के संपर्क में हैं. डीआईजी राजकुमार लकड़ा ने कहा कि मुख्य धारा में लौटने वाले नक्सलियों की मदद के लिए सरकार और प्रशासन तत्पर हैं. जबकि आत्मसमर्पण नहीं करने वाले नक्सली कभी भी पुलिस की गोलियों के शिकार हो सकते हैं.

महिला नक्सलियों का होता है शारीरिक शोषण

वहीं सरेंडर करने वाली महिला नक्सलियों ने संगठन के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली. महिला नक्सली का कहना है कि सुविधाओं का सब्जबाग दिखाकर संगठन में शामिल कराया जाता है, लेकिन शामिल होने के बाद सुविधा तो दूर महिला नक्सलियों का शारीरिक शोषण किया जाता है.

ताला दा दस्ते के थे सदस्य

आत्मसमर्पण करने वाले सभी 6 नक्सली जोनल कमांडर ताला दा उर्फ सहदेव राय के दस्ते के सदस्य थे. इसी साल 13 जनवरी को शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र में पुलिस ने 10 लाख के इनामी नक्सली ताला दा को मुठभेड़ में मार गिराया था. सरेंडर करने वाली किरण दी उनकी पत्नी हैं. किरण दी पर पांच लाख रुपये का इनाम घोषित है. ये सभी दुमका के साथ- साथ संथाल परगना के अन्य जिलों में सक्रिय रहे हैं.
एसपी अमरजीत बलिहार हत्याकांड में थे शामिल

सुखलाल देहरी और प्रेमशीला देवी को छोड़कर अन्य चार नक्सली दो जुलाई 2013 को काठीकुंड में पाकुड़ के तत्कालीन एसपी अमरजीत बलिहार हत्याकांड में शामिल थे. इनके खिलाफ दुमका के कई थानों में मामले दर्ज हैं. इनमें पीसी दी एवं सुखलाल देहरी और प्रेमशीला एवं सिदो मरांडी पति- पत्नी हैं.

आत्मसमर्पण करने वाले नक्सली

पीसी दी उर्फ प्रीशिला देवी उर्फ सावड़ी सिंह, निवासी- काठीकुंड, दुमका
प्रेमशीला उर्फ होपन, निवासी- शिकारीपाड़ा, दुमका
किरण टुडू उर्फ पक्कू टुडू उर्फ उषा उर्फ फुलीन टुडू, निवासी- पाकुड़िया, पाकुड़

सुखलाल देहरी उर्फ कंदरा देहरी, निवासी- काठीकुंड, दुमका
भगत सिंह उर्फ भगत सिंह हेम्ब्रम उर्फ बाबूराम हेम्ब्रम, निवासी- शिकारीपाड़ा, दुमका
सिद्धो मरांडी उर्फ कन्हू, निवासी- शिकारीपाड़ा, दुमका

इन पर इनाम घोषित

पीसी दी उर्फ प्रीशिला देवी उर्फ सावड़ी सिंह- 5 लाख रुपये का इनाम
किरण टुडू उर्फ पक्कू टुडू उर्फ उषा उर्फ फुलीन टुडू- 5 लाख रुपये
सिद्धो मरांडी उर्फ कन्हू- एक लाख रुपए
प्रेमशीला उर्फ होपन- एक लाख रुपए का इनाम

इनपुट- पंचम झा

ये भी पढ़ें- टक्कर के बाद पुुल से नीचे जा गिरे दो ट्रैक्टर, दो महिला समेत 3 की मौत

पॉलिटेक्निक कॉलेज की छात्रा ने की खुदकुशी, खराब रिजल्ट के कारण थी परेशान

 

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...