लाइव टीवी

JMM स्थापना दिवस समारोह में बोले सीएम हेमंत- सरकार के खिलाफ रची जा रही साजिश

News18 Jharkhand
Updated: February 3, 2020, 10:18 AM IST
JMM स्थापना दिवस समारोह में बोले सीएम हेमंत- सरकार के खिलाफ रची जा रही साजिश
दुमका के गांधी मैदान में जेएमएम का 41वां स्थापना दिवस मनाया गया.

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि अभी एक संघर्ष और करना है. राज्य को लूटने वालों के खिलाफ संघर्ष करना है. चुनौती बहुत है, चुनौती को अवसर में बदलना है.

  • Share this:
दुमका. रविवार को उपराजधानी दुमका के गांधी मैदान में झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) का 41वां स्थापना दिवस (Foundation Day) मनाया गया. कार्यक्रम की शुरुआत पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन (Shibu Soren) ने पार्टी का झंडा फहराकर किया. उनके साथ सीएम हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) भी मौजूद थे. देर रात तक चले कार्यक्रम में पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन, सीएम हेमंत सोरेन, मंत्री जगरनाथ महतो, मंत्री हाजी हुसैन, मंत्री जोबा मांझी, विधायक स्टीफन मराण्डी, नलिन सोरेन, लोबिन हेम्ब्रम सहित पार्टी के कई वर्तमान और पूर्व विधायक और पदाधिकारी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. कार्यक्रम में प्रमंडल के सभी 6 जिलों से बड़ी संख्या में कार्यकर्ता जुटे थे.

'राज्य की दुर्दशा के लिए रघुवर सरकार जिम्मेवार'

अपने संबोधन में शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा कि एक साल के अंदर राज्य के छात्रों के लिए बेहतरीन शिक्षा की व्यवस्था होगी. हेमंत सोरेन के नेतृत्व में राज्य का चौतरफा विकास होगा. मंत्री हाजी हुसैन अंसारी ने कहा कि राज्य की दुर्दशा के लिए रघुवर सरकार जिम्मेवार है. नई सरकार पार्टी मेनिफेस्टो के अनुरूप काम करेगी. सीएए और एनआरसी झारखंड में लागू नहीं होगा. राजमहल सांसद विजय हंसदा ने कहा कि रघुवर सरकार ने राज्य को बेपटरी कर दिया. इसलिए हेमंत सोरेन सरकार को इसे पटरी पर लाने में काफी मेहनत करना होगी. लेकिन राज्य के लिए शहीद हुए लोगों का सपना अगले 5 साल में जरूर पूरा होगा.

'गड़बडी करने वाले अधिकारी नपेंगे'

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि अगले 5 वर्षों तक अलग-अलग प्रखंड कार्यालयों का जायजा लेंगे. कब-कहां पहुचेंगे, यह पता नहीं, लेकिन गड़बडी करने वाले अधिकारी नपेंगे. हमलोग राज्य की चुनौती को स्वीकार करें, ताकि चुनौतियों को अवसर में बदला जा सके. कुछ लोग साजिश रचकर साम्प्रदायिक सौहर्द को बिगाड़ना चाह रहे हैं. इससे सावधान रहने की जरूरत है. कानून को हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है. ऐसे लोगों से प्रशासन और सरकार सख्ती से निपटेगी.

सीएम ने कहा कि 41 वर्षों से पार्टी कार्यकर्ता संकल्प लेने के लिए गांधी मैदान में एकत्रित होते रहे हैं. अब इस झारखंड कैसे सजाना और संवारना है, यह हमसब की जिम्मेदारी है. पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के लिए राज्य की जनता का आभार है. चुनाव के वक्त कई वायदे किये थे. आज उन वादों को पूरा करने का समय आ गया है. जल, जंगल और जमीन की रक्षा करना, महिलाओं को सुरक्षा देना और किसान को खुशहाल बनाना है. इस दिशा में काम शुरू हो गया है.

'राज्य को लूटने वालों के खिलाफ संघर्ष करना है'सीएम ने कहा कि 20 वर्षो में कई सरकारें आयीं और गयीं, लेकिन लोगों की अपेक्षाएं पूरी नहीं हो पाईं. लेकिन आप विश्वास रखें, आपका दुख-दर्द दूर करने की दिशा में कार्य होंगे. उन्होंने कहा कि गलत तरीके से राज्य को लूटने वाले के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो चुकी है. हम बात कम काम ज्यादा करेंगे. पूर्व की सरकारों ने समस्याओं के समाधान के बजाय उन्हें उलझाने का काम किया. उन्होंने कहा कि अभी एक संघर्ष और करना है. राज्य को लूटने वालों के खिलाफ संघर्ष करना है. चुनौती बहुत है, चुनौती को अवसर में बदलना है. सरकार बन जरूर गयी है, लेकिन सरकार न चले इसके लिए षड्यंत्र रचा जा रहा है. केंद्र सरकार कानून बनाकर डरा धमका कर उसे मनवाने पर बाध्य कर रही है. यह नहीं चलेगा.

पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन ने कहा कि 41 वर्षों से झारखंड दिवस मना रहे हैं. इससे लोगों को काफी फायदा हुआ है. हम लोग नहीं पढ़े, इसलिए गरीब हैं. बेटा हो या बेटी सब को शिक्षा जरूर दें. पढ़ाई का मतलब बीए-एमए नहीं, बल्कि अक्षर ज्ञान जरूर होनी चाहिए.

रिपोर्ट- पंचम झा

ये भी पढ़ें- झारखंड के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बन्ना गुप्ता के स्वागत से जाम में फंसी एंबुलेंस, मरीज की मौत

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुमका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 10:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर