बासुकीनाथ धाम में बोले CM रघुवर, खतरे में है संथाली संस्कृति.. बचाइये

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि संथाल की संस्कृति यहां की पहचान है. इस संस्कृति को नष्ट करने का काम विदेशी शक्तियां कर रहीं हैं. यह संथालवासियों की जिम्मेवारी है कि वो अपनी संस्कृति को सहेजने के लिए क्या जतन करते हैं.

Bhuvan Kishor Jha | News18 Jharkhand
Updated: July 18, 2019, 12:05 PM IST
बासुकीनाथ धाम में बोले CM रघुवर, खतरे में है संथाली संस्कृति.. बचाइये
सीएम ने कहा कि संथाल की संस्कृति यहां की पहचान है. इस संस्कृति को नष्ट करने का काम विदेशी शक्तियां कर रहीं हैं. यह संथालवासियों की जिम्मेवारी है कि वे अपनी संस्कृति को सहेजने के लिए क्या जतन करते हैं.
Bhuvan Kishor Jha | News18 Jharkhand
Updated: July 18, 2019, 12:05 PM IST
झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को दुमका के बासुकीनाथ धाम में श्रावणी मेले का शुभारंभ किया. इस मौके पर उन्होंने यहां 40 करोड़ 56 लाख रुपये की 9 विकास योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. सीएम ने बासुकी भोग प्रसादम को भी लॉन्च किया और कांवरियों के लिए बनी टेंट सिटी का भी जायजा लिया.

सीएम ने कहा कि श्रावणी मेले के जरिये श्रेष्ठ भारत की कल्पना साकार हो सकती है. यह भगवान शिव का आशीर्वाद ही तो है कि विगत साढ़े 4 साल से झारखंड निरंतर विकास कर रहा है.

शिवगंगा का सौंदर्यीकरण प्राथमिकता

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार संथाल परगना के पर्यटन स्थलों के सौंदर्यीकरण के लिए कार्य कर रही है. देवघर में एयरपोर्ट और एम्स का निर्माण कार्य हो रहा है. 20 करोड़ की प्रसाद योजना दुमका को मिलेगा. यह केंद्र सरकार के पास प्रस्तावित है. शिवगंगा के सौंदर्यीकरण की पहल हो चुकी है. जल्द ही इसके जीर्णोद्धार का काम शुरू होगा. तारापीठ-मयूराक्षी-बासुकीनाथधाम-देवघर को पर्यटन सर्किट के रूप में विकसित किया जाएगा.

बासुकीनाथ धाम, दुमका


स्वच्छता अपनाएं, नहीं तो होंगे दंड के भागी

मुख्यमंत्री ने कहा कि दुमका और देवघर श्रावणी मेला स्वच्छता के क्षेत्र में अपनी पहचान स्थापित कर सके, इस दिशा में कार्य करना है. इन पवित्र स्थलों को स्वच्छ रखना सिर्फ सरकार की जिम्मेवारी नहीं, बल्कि सभी की है. बासुकीनाथधाम में दुकानदार इस कार्य में सहयोग करें. अन्यथा उनपर दंड का प्रावधान सुनिश्चित किया जाएगा.
Loading...

35 लाख किसानों के खाते में 5 हजार करोड़ 

सीएम ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार की योजना के तहत झारखंड के 35 लाख किसानों के बीच 5 हजार करोड़ रुपए का वितरण होगा. मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत राज्य के किसानों को 2 किस्तों में 3 हजार करोड़ रुपये दिये जाएंगे. दुमका में स्मार्ट एग्रो फार्म का शुभारंभ होना है. यहां से किसान बहुफसलीय खेती की बारीकियों से अवगत हो सकेंगे.

किसानों को बहकाने वालों को जेल भेजें

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को मिल रही राशि को लेकर कुछ लोग किसानों के बीच भ्रम फैला रहे हैं. संथाल परगना के सभी जिलों के उपायुक्त (डीसी) और पुलिस अधीक्षक (एसपी) ऐसे तत्वों की पहचान कर विकास विरोधी शक्तियों को जेल भेजें. ये किसानों का बदलाव नहीं चाहते. भ्रम फैलाने वाले यह समझ लें कि जो राज्य के विकास कार्य में अवरोध उत्पन्न करेगा, उसे जेल भेजा जाएगा.

संथाल की संस्कृति को नष्ट करने की कोशिश

सीएम रघुवर दास ने कहा कि संथाल की संस्कृति यहां की पहचान है. इस संस्कृति को नष्ट करने का काम विदेशी शक्तियां कर रहीं हैं. यह संथालवासियों की जिम्मेवारी है कि वो अपनी संस्कृति को सहेजने के लिए क्या जतन करते हैं. यह जिम्मेवारी पढ़े-लिखे संथाला युवाओं की भी है.

ये भी पढ़ें- बाबानगरी देवघर में विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला शुरू, CM रघुवर ने किया उद्घाटन

श्रावणी मेले को मिलेगा राष्ट्रीय मेले का दर्जा, राज्य सरकार केंद्र से करेगी सिफारिश
First published: July 18, 2019, 8:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...