Home /News /jharkhand /

40-50 नहीं दुमका-भागलपुर रेलखंड पर अब 90 की रफ्तार से चलेगी ट्रेन, जानें कब से होगा यह बदलाव

40-50 नहीं दुमका-भागलपुर रेलखंड पर अब 90 की रफ्तार से चलेगी ट्रेन, जानें कब से होगा यह बदलाव

दुमका-भागलपुर रेल खंड पर अब ट्रेनों की रफ्तार दोगुनी होगी.

दुमका-भागलपुर रेल खंड पर अब ट्रेनों की रफ्तार दोगुनी होगी.

Dumka-Bhagalpur Rail Section News:भागलपुर से मंदार हिल के बीच लगभग 50 साल पहले बिछी पुरानी पटरियां थी जिसपर ट्रेनें प्रतिबंधित रफ्तार से चल रही थीं. पटरियों को बदलने का आदेश भी था, लेकिन नई पटरियों की आपूर्ति कम होने के कारण यह काम बेहद धीमा चल रहा था. पुरानी पटरी पर ट्रेनों की प्रतिबंधित रफ्तार के कारण भाया साहिबगंज के मुकाबले भाया दुमका 33 किमी दूरी कम होने के बावजूद ट्रेनें 11.30 घंटे में हावड़ा पहुंचती जबकि साहिबगंज के रास्ते महज 9 घंटे की रनिंग है.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट-नितेश कुमार
    दुमका. जिस रेलखंड पर 40 से 50 किमी की गति से ट्रेन चलती है उसपर अब 90 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चला करेगी. यह बदलाव आपको जल्दी ही दुमका- भागलपुर रेलखंड पर देखने को मिलेगा. जानकारी के अनुसार अगले कुछ दिनों में इस रेलमार्ग पर 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनें दौड़ेंगी. इसके लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. मालदा रेल मंडल ने इसके लिए प्रस्ताव बनाकर मुख्यालय को भेज दिया है. पहले चरण में भागलपुर से मंदार हिल स्टेशन के बीच 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के लिए प्रस्ताव दिया गया है. इसके बाद मंदार हिल से दुमका तक के ट्रैक की स्पीड बढ़ाने का प्रस्ताव दिया जाएगा.

    बता दें कि भागलपुर मंदार हिल रेलखंड पर अभी ट्रेनें अधिकतम 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं. इससे अधिक रफ्तार की अनुमति नहीं है. इसमें भी कुछ जगहों पर काउशन है. मंदार हिल से दुमका के बीच अभी 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार है. इस सेक्शन में भी रफ्तार बढ़ाकर 90 किलोमीटर प्रति घंटे करायी जाएगी. ट्रेनों की रफ्तार बढ़ने से ट्रेनों की रनिंग टाइम घट जाएगी. अभी लगभग आधा घंटा अधिक समय लग रहा है.

    भागलपुर-मंदार हिल रेलखंड पर नई दिल्ली-गोड्डा हमसफर एक्सप्रेस, गोड्डा-रांची एक्सप्रेस, कविगुरु एक्सप्रेस सहित अन्य पैसेंजर ट्रेनें चलती है. ट्रैक की स्पीड बढ़ जाने से इन ट्रेनों का रनिंग टाइम घट जाएगा. भागलपुर से गोड्डा और हावड़ा जाने वाली ट्रेनें कम समय में गंतव्य तक पहुंचा देगी. इस रेलखंड से जुड़े पीडब्ल्यूआई इंजीनियर की मानें तो इस पूरे रेलखंड पर पटरी बदलने का काम पूरा कर लिया गया है. अब कुछ अन्य कार्य हैं जो कराये जा रहे हैं. इसके बाद ट्रेन की स्पीड बढ़ायी जा सकती है.

    बता दें कि दुमका रेलखंड पर पुरानी पटरी होने के कारण हावड़ा की शार्ट रूट होने के बावजूद ट्रेन यात्रा लंबी होती थी. दरअसल, भागलपुर से मंदार हिल के बीच लगभग 50 साल पहले बिछी पुरानी पटरियां थी जिसपर ट्रेनें प्रतिबंधित रफ्तार से चल रही थीं. पटरियों को बदलने का आदेश भी था, लेकिन नई पटरियों की आपूर्ति कम होने के कारण यह काम बेहद धीमा चल रहा था. पुरानी पटरी पर ट्रेनों की प्रतिबंधित रफ्तार के कारण भाया साहिबगंज के मुकाबले भाया दुमका 33 किमी दूरी कम होने के बावजूद ट्रेनें 11.30 घंटे में हावड़ा पहुंचती जबकि साहिबगंज के रास्ते महज 9 घंटे की रनिंग है.

    साल 2011 में तत्कालीन डीआरएम एमके माथुर ने मंदार हिल रेलखंड की पुरानी पटरियों को बदलने का प्रस्ताव दिया था. डीआरएम मालदा रेल मंडल यतेन्द्र कुमार मंदारहिल रेलखंड पर भी ट्रेनों की स्पीड बढ़ायी जाएगी. इसके लिए प्रक्रिया चल रही है। जहां जरूरत है काम भी कराया जा रहा है। अगले कुछ दिनों में यह काम हो जाएगा.

    Tags: Bhagalpur news, Dumka news, Jharkhand news, Train news, Train schedule, Train Time Table

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर