Home /News /jharkhand /

बेटा नहीं पैदा होने पर पति ने पत्नी को दिया तीन तलाक, 1.5 लाख रुपये की भी डिमांड, अब एक्शन में पुलिस

बेटा नहीं पैदा होने पर पति ने पत्नी को दिया तीन तलाक, 1.5 लाख रुपये की भी डिमांड, अब एक्शन में पुलिस

बेटा पैदा नहीं कर पायी तो पति ने पत्नी को दे दिया तीन तलाक- सांकेतिक फोटो

बेटा पैदा नहीं कर पायी तो पति ने पत्नी को दे दिया तीन तलाक- सांकेतिक फोटो

Shameful: दुमका के शिकारीपाड़ा थाना में में हसीना बीवी के दिए आवदेन के मुताबिक उसकी शादी काठीकुंड थाना क्षेत्र के बिछया पहाड़ी गांव निवासी सलीम अंसारी के साथ 2011 में मुस्लिम रीति रिवाज के साथ हुई थी. कुछ साल बाद तीन लड़कियों के होने के बाद पति उसे प्रताड़ित करने लगा और कहने लगा कि तुम केवल लड़की पैदा करती कर रही हो.

अधिक पढ़ें ...

    नीतेश कुमार 

    दुमका. झारखंड के दुमका (Dumka) जिले के शिवतल्ला गांव से तीन तलाक का मामला सामने आया है. गांव में रहने वाली महिला हसीना बीवी ने अपने पति पर डेढ़ लाख रुपये और बेटा नहीं होने पर तीन तलाक (Triple Talaq) देने का आरोप लगाया है. महिला की शिकायत पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. मिली जानकारी के अनुसार दुमका जिले के शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र शिवतल्ला गांव से तीन तलाक का मामला सामने आया है. खबर के मुताबिक गांव में रहने वाली हसीना बीवी ने अपने पति सलीम अंसारी पर बेटा नहीं होने और डेढ़ लाख रुपये की मांग को लेकर तीन तलाक देने का आरोप लगाया है. पीड़ित महिला हसीना की शिकायत पर पुलिस ने तीन तलाक अधिनियम (Triple Talaq Act) के तहत सलीम अंसारी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

    शिकारीपाड़ा  थाना में में हसीना बीवी के दिए आवदेन के मुताबिक उसकी शादी काठीकुंड थाना क्षेत्र के बिछया पहाड़ी गांव निवासी सलीम अंसारी के साथ 2011 में मुस्लिम रीति रिवाज के साथ हुई थी. कुछ साल बाद तीन लड़कियों के होने के बाद पति उसे प्रताड़ित करने लगा और कहने लगा कि तुम केवल लड़की पैदा करती कर रही हो. उसने हसीना पर पिता से डेढ़ लाख रुपये मांग कर लाने का दबाव भी बनाया और कहा कि पैसे नहीं मिले तो तुम्हे अपने साथ नहीं रखूंगा.

    कई बार हुआ पंचायत, फिर भी नहीं माना सलीम

    बता दें , इस मामले को लेकर कई बार पंचायती भी हुई लेकिन सलीम अंसारी नहीं माना और उसे तीन तलाक दे दिया. हसीना की शिकायत के बाद पुलिस ने दहेज उत्पीड़न और तीन तलाक अधिनियम के तहत केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. पुलिस के मुताबिक महिला की शिकायत पर जांच की जा रही है जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

    बिना वारंट आरोपी को गिरफ्तार कर सकती है पुलिस

    तीन तलाक अधिनियम के तहत तीन तलाक को संज्ञेय अपराध माना गया है जिसके तहत पुलिस बिना वारंट के आरोपी को गिरफ्तार कर सकती है. इसके तहत तीन साल की सजा का प्रावधान है. आरोपी को मजिस्ट्रेट पीड़िता का पक्ष सुनने के बाद जमानत दे सकता है. साथ ही पीड़िता पति से गुजारे भत्ते का दवा कर सकती है जिसकी रकम मजिस्ट्रेट तय करेंगे. पीड़ित नाबालिग बच्चे को अपने साथ रख सकती है इसका भी फैसला मजिस्ट्रेट तय करेगा.

    Tags: Dumka news, Jharkhand news, Jharkhand Police, Triple talaq

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर