झारखंड: सांसद-विधायकों में तकरार, एक-दूसरे के काम पर कर रहे हैं लीपा-पोती

गोड्डा में भाजपा के सांसद और भाजपा के ही दो विधायक योजनाओं के शिलान्यास को लेकर आमने-सामने हैं. सांसद निशिकांत दुबे ने हाल ही में विधायकों द्वारा की गई योजनाओं का फिर से शिलान्यास किया हैं.

Ajit Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 5:25 PM IST
झारखंड: सांसद-विधायकों में तकरार, एक-दूसरे के काम पर कर रहे हैं लीपा-पोती
सांसद ने किया योजनाओं का शिलान्यास
Ajit Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 5:25 PM IST
गोड्डा में दो दिन पहले 13 फरवरी को सांसद निशिकांत दुबे ने दो योजनाओं को शिलान्यास किया. इन दोनों योजनाओं का शिलान्यास पहले भाजपा विधायकों द्वारा किया जा चुका था. पहला मामला गोड्डा विधानसभा क्षेत्र के बोदरा गांव में 11 करोड़ की लागत से बनी पेयजल योजना का है जिसका 13 जनवरी को विधायक अमित मंडल ने शिलान्यास कर दिया था, लेकिन असामाजिक तत्वों ने शिलापट्ट तोड़ दिया था. इसी योजना का 13 फरवरी को सांसद निशिकांत दुबे ने फिर से शिलान्यास कर दिया.

दूसरा मामला महगामा विधानसभा क्षेत्र के नरोत्तमपुर में ग्यारह करोड़ की लागत से बने ग्रामीण विकास विभाग के पुल का है, जिसका विधायक अशोक कुमार ने 4 फरवरी को शिलान्यास किया था. इस पुल का 13 फरवरी को सांसद दूबे ने फिर से शिलान्याय कर दिया. सांसद निशिकांत दुबे ने इस मामले में कहा कि सारी योजनाएं वे लेकर आते हैं, लेकिन फीता काटने और नारियल फोड़ने कोई और आ जाता है.

सांसद द्वारा फिर से शिलान्यास करने को लेकर विधायक अमित मंडल ने कहा कि योजना किसी की भी हो, शिलान्यास कोई भी करे लेकिन नाम भाजपा का होना चाहिए. वहीं महगामा विधायक अशोक कुमार का कहना है कि प्रदेश की योजनाओं के लिए विधायक मेहनत करता है तो उसे श्रेय क्यों नहीं मिलना चाहिए?

बहरहाल, गोड्डा के तीन भाजपा जन प्रतिनिधियों की शिलान्यास करने की राजनीति अब शुरू हो गई है. इन तीनों के बयानों से साफ जाहिर होता हैं कि गोड्डा की राजनीति में भाजपा के लिए सब कुछ ठीक नही चल रहा है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर