Home /News /jharkhand /

nanad killed bhabhi for 20 acres land in dumka jhnj

झारखंड: 20 एकड़ जमीन के लिए ननद ने की भाभी की हत्या, 4 दिन बाद ऐसा खुला राज

चार दिन की जांच में पुलिस ने आरोपी नदद की साजिश का खुलासा करते हुए दो अन्य आरोपियों समेत उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

चार दिन की जांच में पुलिस ने आरोपी नदद की साजिश का खुलासा करते हुए दो अन्य आरोपियों समेत उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

Dumka News: फुलीन टुडू सुकुल मरांडी की दूसरी पत्नी थी. भाई का कोई वारिश नहीं होने के कारण बहन को लगता था कि कहीं भाई अपनी सारी जमीन फुलीन के पहले पति के दोनों बच्चों के नाम न कर दे. इसी डर से आरोपी ने दोनों की हत्या की साजिश रची. लेकिन आंख खुल जाने के कारण वृद्ध सुकुल की जान बच गई, पर फुलीन की हत्या कर दी गई.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- नितेश कुमार

दुमका. झारखंड के दुमका में 20 एकड़ जमीन के लिए ननद ने भाभी की हत्या कर दी. घटना काठीकुंड के आमगाछी गांव के प्रधान टोला की है. इस घटना में आरोपी ननद ने अपनी बेटी और दामाद को भी शामिल कर लिया था. चार दिन के अनुसंधान के बाद पुलिस ने पर्याप्त साक्ष्य के आधार पर ननद मुनु मरांडी, उसकी बेटी सुकुल मुर्मू और दामाद पिंडलू हांसदा को गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया. पुलिस के मुताबिक आरोपी ननद सारी जमीन पर अपने दामाद और बेटी को हक दिलाना चाहती थी.

एसडीपीओ नूर मुस्तफा अंसारी ने बताया कि गत 14 मई को 55 साल की फुलीन टुडू दिव्यांग पति सुकुल मरांडी के साथ पंचायत चुनाव में मतदान करने के बाद शाम को खाना खाकर सो गई. पति जमीन पर और पत्नी खाट पर सो गई. रात करीब एक बजे तीन लोग घर के आंगन में आए और पति पर कंबल डालकर गला दबाने का प्रयास किया. इस पर उसकी नींद खुल गई. तीनों ने उसे छोड़ दिया और खाट पर सोई फुलीन के चेहरे पर ईंट से प्रहार कर मार डाला.

सुकुल मरांडी के बयान पर अज्ञात पर मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की तो ननद की सच्चाई सामने आई. दरअसल फुलीन सुकुल मरांडी से दूसरी शादी की थी. शादी के बाद फुलीन के बेटा और बेटी साथ रहते थे. यह बात ननद मुनु मरांडी को नागवार लगती थी. भाई का कोई वारिश नहीं होने के कारण बहन को लगता था कि कहीं भाई सारी जमीन फुलीन के दोनों बच्चों को नाम न कर दे. इसी डर से तीनों ने मिलकर दोनों की हत्या का प्रयास किया. लेकिन आंख खुल जाने के कारण वृद्ध सुकुल की जान तो बच गई, लेकिन फुलीन की हत्या कर दी गई.

एसडीपीओ नूर मुस्तफा ने बताया कि सुकुल मरांडी के पास अपनी दस से ज्यादा एकड़ जमीन थी और दादी की भी इतनी जमीन का वह मालिक था. कई बार आरोपी बहन ने जमीन अपने नाम करवाने के लिए दबाव डाला, लेकिन उसने मना कर दिया. फिर आरोपी ने दोनों को रास्ते से हटाने के लिए अपने दामाद पिंडलू हांसदा और बेटी सुकुल मुर्मू को साजिश में शामिल किया. और रात के अंधेरे में सुकुल मरांडी और फुलीन टुडू की जान लेने की कोशिश की. हालांकि सुकुल सकुशल बच गये.

Tags: Dumka news, Jharkhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर