होम /न्यूज /झारखंड /आज दुमका सहित संथाल परगना बंद, नाबालिग लड़कियों की हत्या से नाराज आदिवासी संगठनों ने किया बड़ा ऐलान

आज दुमका सहित संथाल परगना बंद, नाबालिग लड़कियों की हत्या से नाराज आदिवासी संगठनों ने किया बड़ा ऐलान

दुमका में नाबालिग लड़कियों की हत्या से नाराज होकर आदिवासी संगठनों ने आज दुमका समेत संथाल परगना के बंद का ऐलान किया है.

दुमका में नाबालिग लड़कियों की हत्या से नाराज होकर आदिवासी संगठनों ने आज दुमका समेत संथाल परगना के बंद का ऐलान किया है.

Jharkhand News: दुमका में हाल में हुए तीन घटनाओं के बाद से सभी समाज के लोग काफी आक्रोश में है. ऐसे में झारखंड में नाबाल ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

दुमका में नाबालिग लड़कियों की हत्या से सूबे के आदिवासी संगठन काफी नाराज हैं.
आदिवासी एकता मंच एवं विभिन्न संगठनों ने दुमका सहित संथाल परगना बंद करने का ऐलान किया है.
सरकार द्वारा दोषियों पर जल्द से जल्द कड़ी कार्रवाई नहीं होने पर आदिवासी संगठनों ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है.

रिपोर्ट- नितेश कुमार 
दुमका. झारखंड की उपराजधानी दुमका जिला के रानेश्वर थाना क्षेत्र की रहने वाली नाबालिग आदिवासी युवती की विश्वविद्यालय ओपी थाना क्षेत्र में हत्या कर पेंड में लटका देने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. इस घटना को लेकर आदिवासी समाज मे उबाल आ गया है. यहीं नहीं दुमका में हाल में हुए तीन घटनाओं के बाद से सभी समाज के लोग काफी आक्रोश में है. ऐसे में दुमका में नाबालिग लड़कियों की हत्या से नाराज होकर सोमवार को आदिवासी एकता मंच एवं विभिन्न संगठनों के द्वारा दुमका सहित संथाल परगना बंद करने का ऐलान किया गया है.

बता दें, नाबालिग मजदूर युवती की हत्या के आरोप में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि इस तरह का वारदात अकेले नहीं किया जा सकता है. हत्यारे के साथ कोई न कोई और भी शामिल रहा होगा. स्थानीय लोगों के अनुसार इस मामले को लेकर पुलिस हत्यारे को छिपा रही है.

आदिवासी संगठनों ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी 

वहीं इस मामले से नाराज आदिवासी समन्वय समिति के अलावा कई संगठनों ने एसपी कॉलेज के पास सीएम हेमंत सोरेन का पुतला दहन किया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस दौरान लोगों ने कहा कि पूरा आदिवासी समाज इस घटना से आक्रोश में है और सरकार चुप है. पीड़ित परिवार के लिए एक करोड़ मुआवजे की राशी और हत्यारे को पन्द्रह दिन में फांसी से कम मान्य नहीं होगा. आंदोलन उग्र होगा ओर आज से पूरा संथाल परगना बंद रहेगा.

दुमका के हालिया 3 मामलों के कारण आक्रोश में लोग 

बता दें, दुमका का पेट्रोल हत्याकांड मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि कुछ दिनों के अंदर 2 घटनाएं और सामने आ गई. पहले दुमका पेट्रोल हत्याकांड, दूसरी तालझारी में अधजला शव बरामद जिसकी अब तक शिनाख्त नहीं हो पाई, वहीं तीसरी घटना रेप के बाद हत्या कर शव को पेड़ से लटका दिया गया. ऐसे में लोगों का कहना है कि दुमका में रेप और हत्या का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

Tags: Dumka news, Jharkhand news, Minor girl rape

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें