मवेशी बचाने के चक्कर में 2 लोगों की मौत से मचा हड़कंप, SP ने कही ये बात

एनडीआरएफ द्वारा सबसे पहले कुए से जहरीली गैस को निकाल गया और फिर काफी मसक्कत के बाद दोनों शव को बाहर निकाले जा सके.

News18 Jharkhand
Updated: September 8, 2019, 4:34 PM IST
मवेशी बचाने के चक्कर में 2 लोगों की मौत से मचा हड़कंप, SP ने कही ये बात
दुमका में दो लोगों की मौत से हड़कंप.
News18 Jharkhand
Updated: September 8, 2019, 4:34 PM IST
दुमका. झारखंड (Jharkhand) राज्‍य के दुमका जिला (Dumka District) के हंसडीहा पुलिस थाना (Hansdiha Police Station) के सिम्फ़र गांव में शनिवार की रात एक अजीबोगरीब घटना घटी. सुदेश महतो (Sudesh Mahato) के घर के समीप एक पुराना कुआ था, जिसमें उनकी (सुदेश महतो) गाय का बछड़ा गिर गया. सुदेश की पत्नी ने इसकी सूचना अपने पति को दी. पति घर पहुंचा और बछड़ा बचाने कुए में उतर गया. जब आधे घंटे तक वापस नहीं निकला तो पत्नी ने शोर मचाना शुरू कर दिया. शोर सुनकर कुए के समीप लोग इकठ्ठा हुए और भीड़ में से एक उत्साही युवक सुदेश की तलाश में कुए में उतर गया, लेकिन जब वो भी बाहर नहीं निकला तो ग्रामीणों ने इसकी सूचना हंसडीहा थाना को दी.

सूचना पाते ही हंसडीहा थाना की पुलिस घटना स्थल पर पहुचीं और स्थानीय लोगों के साथ मिलकर शव को निकालने का प्रयास किया, लेकिन तीखी गंध की वजह से सफलता नहीं मिली. दरअसल, कुए में जहरीले गैस का रिसाव होने के वजह से कोई भी उसमें उतरने का साहस नहीं कर पाया.

एनडीआरएफ की टीम शव बाहर निकाले
अंततः जिला प्रशासन की पहल पर रांची से आज सुबह एनडीआरएफ (NDRF) की टीम सिम्फ़र गांव पहुंची. एनडीआरएफ द्वारा सबसे पहले कुए से जहरीली गैस को निकाल गया. काफी मसक्कत के बाद शव को बाहर निकाला जा सका. इस दुखद घटना पर एनडीआरएफ के असिस्टेंट कमांडेंट जय प्रकाश ने कहा कि हाल के दिनों में इस प्रकार की घटनाओं में इजाफा हुआ है. पुराने कुए या बोर बेल में जहरीली मीथेन गैस बन जाती है. जबकि जानकारी के अभाव में लोग आनन फानन में इस तरह का रिस्क ले लेते हैं. नतीजा उन्हें जान गवानी पड़ती है.

पुराने कुए या बोर बेल में जहरीली मीथेन गैस बन जाती है.


एनडीआरएफ के असिस्टेंट कमांडेंट और एसपी ने दी ये सलाह
एनडीआरएफ के असिस्टेंट कमांडेंट जय प्रकाश ने कहा कि कुआ या बोर बेल को खुला नहीं छोड़ना चाहिए. लोग थोड़ी सावधानी रखें तो इस तरह की घटनाओं से बचा जा सकता है. जबकि घटना पर दुख जताते हुए जिले के एसपी वाईएस रमेश ने कहा कि घटना काफी दुखद. बछड़ा बचाने में दो लोगों की जान बेवजह चली गई. उन्होंने लोगों से अपील की कि अगर इस तरह की घटना हो तो तत्काल पुलिस को सूचना दें.
Loading...

ये भी पढ़ें-थाने में घुसकर बदमाशों ने पुलिसवालों को जमकर पीटा, CCTV कैमरे में कैद हुई घटना

नियमों का उल्लंघन करने पर ट्रैफिक पुलिस का कटा 36 हजार का चालान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुमका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 4:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...