अपना शहर चुनें

States

CM हेमंत के सामने छोटे भाई बसंत सोरेन के बिगड़े बोल, कहा- अपनी सरकार में अधिकारियों पर जूते-चप्पल नहीं चलाये तो अफसोस की बात

दुमका में पार्टी की बैठक में विधायक बसंत सोरेन के बोल बिगड़ गये
दुमका में पार्टी की बैठक में विधायक बसंत सोरेन के बोल बिगड़ गये

छोटे भाई बसंत सोरेन (Basant Soren) के बयान पर सीएम हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने बचाव करते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में कई तरह की बातें होती हैं. लेकिन कहने और करने में फर्क होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 7:33 PM IST
  • Share this:
दुमका. झारखंड के दुमका में जेएमएम की प्रमंडलीय बैठक में सीएम हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) के सामने ही छोटे भाई विधायक बसंत सोरेन (Basant Soren) के बोल बिगड़ गये. दरअसल बैठक में पार्टी कार्यकर्ता अधिकारियों को लेकर लगातार शिकायत सुना रहे थे. इसी पर बसंत सोरेन ने आपा खोते हुए कार्यकर्ताओं से कहा कि आज सूबे आपकी अपनी सरकार है. ऐसे में अगर अधिकारी बात नहीं सुनते हैं और आप चप्पल-जूता नहीं चला सकते हैं तो ये अफसोस की बात है.

हालांकि बसंत के इस बयान के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने छोटे भाई का बचाव करते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में कई तरह की बातें होती हैं. लेकिन कहने और करने में फर्क होता है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन गणतंत्र दिवस पर झंडा फहराने दुमका पहुंचे हैं. वहां सोमवार को दुमका क्लब में जेएमएम की प्रमंडलीय बैठक आयोजित हुई. इस बैठक में सीएम हेमंत सोरेन के साथ उनके छोटे भाई और स्थानीय विधायक बसंत सोरेन भी मौजूद थे. बैठक में 2 फरवरी को पार्टी की स्थापना दिवस दुमका में मनाने पर विचार किया गया. इस दौरान जामताड़ा और देवघर के कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों के मनमाने रवैये की शिकायत सीएम से की. इस पर बसंत सोरेन ने आपा खोते हुए विवादास्पद बयान दिया.



उन्होंने कहा कि झारखंड आंदोलन के समय गुरुजी शिबू सोरेन भी लोगों से कहा करते थे कि जब अधिकारी बात नहीं सुनें तो उन पर चप्पल-जूता चलाएं. संघर्ष की बदौलत झारखंड अलग राज्य मिला है. राज्य में आज आपकी अपनी सरकार है. इसके बावजूद कार्यकर्ताओं के पास शिकायत है, तो अफसोस की बात है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज