Home /News /jharkhand /

स्कूल जाने के लिए जान जोखिम में डालकर पहाड़ी नाला पार करते हैं यहां के बच्चे

स्कूल जाने के लिए जान जोखिम में डालकर पहाड़ी नाला पार करते हैं यहां के बच्चे

पहाड़ी नाला पार करते बच्चे

पहाड़ी नाला पार करते बच्चे

माछभंडार से रहरगोड़ा जाने के लिए ग्रामीणों ने श्रमदान कर सड़क बनाई, लेकिन रास्ते में नाला पड़ने के कारण बरसात में रहरगोड़ा का संपर्क अन्य गांवों से कट जाता है

    पूर्वी सिंहभूम के नक्सल फोकस एरिया गुडाबांधा में बारिश के मौसम में बच्चे जान खतरे में डालकर स्कूल जाते हैं. दरअसल स्कूल जाने के रास्ते में एक पहाड़ी नाला पड़ता है. बारिश के मौसम में यह नाला उफान पर रहता है. ऐसे में बच्चों के माता-पिता को उन्हें गोद में उठाकर नाला पार करवाना पड़ता है. कई बार तो स्कूल से घर लौटने के लिए बच्चों को नाले में पानी कम होने का इंतजार करना पड़ता है.

    दरअसल माछभंडार से रहरगोड़ा जाने के लिए ग्रामीणों ने श्रमदान कर सड़क बनाई, लेकिन रास्ते में नाला पड़ने के कारण बरसात में रहरगोड़ा का संपर्क अन्य गांवों से कट जाता है. ऐसे में रहरगोड़ा स्थित स्कूल जाने के लिए बच्चों को जान जोखिम में डालकर नाला पार करना पड़ता है.

    हल्की बरिश में नाले में पानी भर जाता है. पहाड़ी नाला होने के कारण पानी की धार तेज रहती है. तेज बहाव के कारण स्कूली बच्चों को पार करने के दौरान बहने का खतरा रहता है. कम पानी में तो बच्चे एक-दूसरे का हाथ पकड़ पार कर लेते हैं. लेकिन नाले में पानी भर जाने पर माता-पिता को गोद में उठाकर बच्चों को नाला पार कराना पड़ता है.

    ग्रामीणों ने बताया कि नाले पर पुल के लिये वे कई बार विधायक से लेकर सांसद तक से गुहार लगा चुके हैं. लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई. रहरगोड़ा विद्यालय के शिक्षक बताते हैं कि स्कूल की छुट्टी के बाद जब तक बच्चे नाला पार नहीं करा लेते, वे बच्चों के साथ ही रहते हैं. कभी-कभी तो छुट्टी के समय बारिश होने लगती है. ऐसे में बच्चों को नाले में पानी कम होने का इंतजार करना पड़ता है.

    (प्रभंजन की रिपोर्ट)

     

     

     

    Tags: Ghatshila

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर