कोरोना के खौफ में 18 घंटे तक अंतिम संस्कार से महरूम रहा शव, विधायक ने दफनाया
East-Singhbum News in Hindi

कोरोना के खौफ में 18 घंटे तक अंतिम संस्कार से महरूम रहा शव, विधायक ने दफनाया
जेएमएम विधायक समीर मोहंती की पहल पर 18 घंटे बाद शव को दफनाया गया

22 अप्रैल को रिपोर्ट निगेटिव आने के प्रशासन ने शव को बेटी को सौंप दिया. लेकिन परिवारवाले जैसे ही अंतिम संस्कार (Funeral) के लिए श्मशान पहुंचे, ग्रामीणों (Villagers) ने वहां पहुंचकर दफनाने से रोक दिया.

  • Share this:
पूर्वी सिंहभूम. कोरोना वायरस (Corona) के खौफ में 18 घंटे तक बुजुर्ग महिला का शव अंतिम संस्कार (Funeral) से महरूम रहा. 18 घंटे बाद बहरागोड़ा के जेएमएम विधायक समीर महंती की पहल पर शव का अंतिम संस्कार किया गया. जिले के बहरागोड़ा थानाक्षेत्र के मोहनपुर की रहने वाली वृद्धा चंचला नायक का शव गुरुवार दोपहर जामशोला में सुवर्णरेखा नदी (Suvarnarekha River) से बरामद किया गया. जिसके बाद शाम 5 बजे शव को नारायणपुर घाट (जामशोला) में दफनाया गया. इसके बाद प्रशासनिक महकमा ने राहत की सांस ली.

पहले कुएं में खोजा गया शव 

इससे पहले बुधवार पूरी रात उसके शव को बहरागोड़ा के एक श्मशाम घाट के कुएं में खोजा गया. लेकिन शव नहीं मिला. इसके बाद जानकारी मिली कि शव को सुवर्णरेखा नदी में बहा दिया गया. प्रशासन ने ग्रामीणों की मदद से सुवर्णरेखा नदी से बुजुर्ग महिला का शव बरामद किया. दरअसल जांच में रिपोर्ट निगिटिव आने के बाद भी कोरोना के खौफ में ग्रामीणों वृद्धा के शव को दफनाने से रोक दिया. जिसके बाद परिवारवालों ने शव को सुवर्णरेखा नदी में फेंक दिया.



रिपोर्ट निगेटिव रहने पर भी ग्रामीणों ने दफनाने से रोका



परिजनों के मुताबिक 19 अप्रैल की रात तबीयत बिगड़ने के बाद चंचला नायक को बहरागोड़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया था. वह टीबी से पीड़ित थी. इलाज देने के बावजूद तबीयत ठीक नहीं होने पर उसे स्वास्थ्य केन्द्र से एमजीएम अस्पताल जमशेदपुर रेफर कर दिया गया. लेकिन वहां ले जाने से पहले स्वास्थ्य केन्द्र में वृद्धा की मौत हो गई. मौत के बाद कोरोना जांच के लिए सैंपल लेकर शव को अनुमंडल अस्पताल भेज दिया गया. 22 अप्रैल को रिपोर्ट निगेटिव आने के प्रशासन ने शव को बेटी को सौंप दिया. लेकिन परिवारवाले जैसे ही अंतिम संस्कार के लिए शमशान पहुंचे, ग्रामीणों ने वहां पहुंचकर दफनाने से रोक दिया. जिसके बाद परिजनों ने शव को नदी में बहा दिया. प्रशासन को जब इस बात का पता चला, तो शव को नदी से निकाल कर अंतिम संस्कार किया गया.

रिपोर्ट- प्रभंजन कुमार

ये भी पढ़ें- रिम्स में प्रसव के बाद कोरोना पॉजिटिव निकली महिला, गायनी विभाग सील, क्वारंटाइन में गये डॉक्टर

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading