जब सड़कों पर एक साथ 8 एंबुलेंस का काफिला सायरन बजाता हुआ निकला...

एंबुलेंसों का काफिला.

एंबुलेंसों का काफिला.

Jharkhand News : सांसद जिन 8 एंबुलेंस का काफिला लेकर अपने संसदीय क्षेत्र में घूमे, वो वास्तव में सांसद निधि से क्षेत्र को दी गई हैं. यही नहीं, ऑक्सीजन से लैस इन एंबुलेंसों के अलावा अभी इस तरह की और मदद भी की जाएगी.

  • Share this:

घाटशिला. कोरोना संक्रमित लोगों को समय पर अस्पताल पहुंचाने और ज़रूरी प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा देने के मकसद से सांसद विद्युत वरण महतो (MP Vidhyut charan mehto) ने अपने संसदीय क्षेत्र में सांसद निधि से 8 एम्बुलेंस मुहैया करवाईं. इससे पहले सांसद ने सभी आठ एम्बुलेंस (Ambulance) को ट्रायल (Test Drive) पर निकाला और टेस्ट ड्राइव भी की. ये सभी एंबुलेंस सोमवार को उपायुक्त और सिविल सर्जन की मौजूदगी में जिला प्रशासन को दी जा रही हैं.

Youtube Video

एक साथ 8 एम्बुलेंस जब सड़क पर ट्रायल के लिए दौड़ीं तो घाटशिला के लोगों ने उत्साह के साथ यह दृश्य देखा. बताया गया है कि सभी एम्बुलेंस सामजिक, राजनीतिक एवं स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में कार्य करने वाले संगठनों के सुपुर्द कर दी जाएंगी ताकि लोगों को समय से अस्पताल लाया जा सके.

ये भी पढ़ें : नोएडा में आज से लगेगी 18-44 साल के लोगों को वैक्सीन, 10 और ज़िलों में भी

corona in jharkhand, covid-19 in jharkhand, jharkhand news, ambulance service, झारखंड में कोरोना, झारखंड न्यूज़, झारखंड समाचार, झारखंड में कोविड-19
सांसद महतो ने सांसद निधि से मुहैया करवाईं एंबुलेंस.

कैसे हुई टेस्ट ड्राइव?

ट्रायल के दौरान सांसद की गाड़ी के पीछे एंबुलेंस सायरन बजाती हुई मुसाबनी पहुंचीं. सांसद और एम्बुलेंस का ये काफिला मुसाबनी के कई इलाकों में घूमा. ईंधन लेने के लिए रुकने के वक्त सांसद ने मीडिया को एम्बुलेंस सेवा के बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि एम्बुलेंस में ऑक्सीजन सिलेंडर, एसी, स्ट्रैचर जैसी अत्याधुनिक व्यवस्थाएं हैं.



मेरा प्रयास है कि कोरोना संक्रमितों के साथ ही अन्य बीमारों को समय पर एंबुलेंस व स्वास्थ्य सुविधा मिले. मैं लगातार कोशिश कर रहा हूं. ज़रूरतमन्दों के लिए मेडिकल किट अभियान भी शुरू किया है ताकि जो सक्षम नहीं हैं, उन्हें निःशुल्क दवा मिल सके.

विद्युत वरण महतो, सांसद

ये भी पढ़ें : झारखंड: क्या सच में प्राइवेट अस्पतालों से वैक्सीनेशन रोकने को कहा गया? आखिर क्यों?

यही नहीं, सांसद ने बताया कि अभी 6 और एम्बुलेंस जल्द उपलब्ध कराई जाएंगी. साथ ही शव लाने-ले जाने के लिए भी दो अतिरिक्त एम्बुलेंस जमशेदपुर और घाटशिला में उपलब्ध कराई जाएंगी. ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए सांसद निधि के 14 लाख रुपये से सिलेंडर मुहैया करवाने की पहल की गई है. जल्द ही 275 सिलेंडर उपलब्ध हो होंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज